बेवड़े बर्बाद कर गए, अब रात में बंद हो गए सीएनजी पंप

पर्यावरण की सुरक्षा के लिए सरकार करोड़ों रुपए खर्च कर गाड़ियों में ‘सीएनजी’ को बढ़ावा दे रही है। लेकिन देर रात को बेवड़े ड्राइवरों की गुंडागर्दी और आए दिन होनेवाले झगड़ों से परेशान होकर सीएनजी पेट्रोल पंपधारकों ने रात १० बजे के बाद सीएनजी पंप बंद कर दिए हैं। इससे पर्यावरण को बचाने के सरकारी प्रयासों को झटका लगा है। पर्यावरण को बचाने की मुहिम को ये बेवड़े बर्बाद कर गए। रात १० बजे अपने घर लौटने के वक्त सीएनजी भरवाने वाले वाहन चालक इससे खासे प्रभावित हुए हैं।
मुंबई शहर में हरित मुहिम की बेवड़ों ने हवा निकाल दी है। सीएनजी पंप पर बेवड़ों द्वारा देर रात उत्पात मचाने के बाद मालिकों ने रात १० बजे ही पंप बंद करना शुरू कर दिया है। इससे सीएनजी वाहन चालकों को भारी असुविधा का सामना करना पड़ रहा है। एमएमआर रीजन में सीएनजी पर चलनेवाली लगभग ५.५ लाख गाड़ियां हैं जबकि देश में कुल ३० लाख गाड़ियां सीएनजी वाली हैं लेकिन मुंबई में सीएनजी पंप धारक बेवड़ों की समस्या से जूझ रहे हैं, जो रातभर चलनेवाले सीएनजी पंपों में कभी बीच में घुस जाते हैं तो कभी गाली-गलौज करने लगते हैं। इस परेशानी से निजात पाने के लिए सीएनजी पंप मालिकों ने अब रात १० बजे से सबेरे ६ बजे के बीच सीएनजी पंप बंद रखने का निर्णय लिया है। इसकी शुरुआत मीरा-भाइंदर में हो चुकी है।
मीरा-भाइंदर शहर में सीएनजी की आपूर्ति भाइंदर-काशीमीरा मार्ग पर साईबाबा नगर के सामने स्थित यूनिक फीलिंग पॉइंट और नेशनल हाइवे-८ पर काशीमीरा पुलिस स्टेशन के सामने स्थित दहिसर सर्विस स्टेशन नामक पेट्रोल पंपों पर की जाती है, जहां पर मीरा-भाइंदर शहर के करीब ६ हजार ऑटोरिक्शा के अलावा निजी वाहनों में भी सीएनजी गैस भराने के लिए लोग कतार लगाए रहते हैं। सीएनजी पंप धारकों के अनुसार पहले से कतार में लगे ऑटोचालकों और अचानक आकर बिना कतार के सीएनजी गैस भरानेवालों में अक्सर विवाद होता रहता था। उस पर रात के समय शराबी और नशाखोर ऑटो ड्राइवर अक्सर हिंसक हो जाया करते थे। हाल ही में यूनिक फिलिंग पॉइंट पेट्रोल पंप पर इसी तरह के एक ऑटो चालक ने पेट्रोल पंप के एक कर्मचारी का कान काट लिया था। इससे परेशान पंपधारकों ने यह निर्णय लिया।
इस संबंध में पूछे जाने पर महानगर गैस लिमिटेड की प्रवक्ता नीरा अस्थाना ने बताया, ‘हमने किसी भी पेट्रोल पंपवाले को रात को सीएनजी पंप बंद रखने के लिए नहीं कहा है। यदि इसके बावजूद कुछ पंप पर गैस आपूर्ति का काम रात को नहीं किया जा रहा है तो यह उनका खुद का पैâसला होगा। कुछ घटनाओं के चलते आम जनता को परेशानी नहीं होनी चाहिए। इसलिए इस समस्या का हल जरूर निकालेंगे।’ जबकि दहिसर सर्विस सेंटर पेट्रोल पंप के प्रबंधक मयूर प्रतापराव वोरा ने बताया कि रात को १० बजे से सुबह ६ बजे तक सीएनजी गैस फिलिंग बंद करने का निर्णय स्थानीय पेट्रोल पंप धारकों ने आपसी सहमति से लिया है। इस बारे में सरकार का कोई पैâसला नहीं आया है। रात के समय सीएनजी गैस फिलिंग करते समय पेट्रोल पंप के कर्मचारियों को भी असामाजिक तत्वों से डर रहता है।