" /> बेवड़ों की बैरंग घर वापसी : आदेश पारित हुआ सर्कुलर जारी नही!

बेवड़ों की बैरंग घर वापसी : आदेश पारित हुआ सर्कुलर जारी नही!

राज्य सरकार ने लॉक डाउन 3.0 में कुछ वस्तुओं पर ढील दी है। शराब की दुकानों को खोलने का आदेश भी इसी में एक है। राज्य सरकार ने जैसे ही शराब की दुकानों को खोलने निर्णय लिया शराबियों न सुकून की सांस ली और अगले दिन वाइन शॉप के बाहर सुबह से ही शराबियों की लंबी कतारें लगनी शुरू हो गईं लेकिन आदेश पारित होने के बाद भी शराब की दुकान खोलने के लिए स्थानीय प्रसाशन को सर्कुलर जारी नहीं हुआ था इसलिए शराब की दुकानें नहीं खुल सकीं। नतीजतन वाइन शॉप के बाहर सुबह से ही कतार में खड़े बेवड़ों को कल बैरंग घर लौटना पड़ा।
बता दें कि जब से कोरोना वायरस प्रकोप के कारण राज्य सहित देश में लॉक डाउन लागू हुआ है। इस लॉक डाउन के दौरान नियमित शराब पीने के आदि शराबियों को काफी दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा था। ऐसे में शराबियों की बढ़ती परेशानी को देखते हुए राज्य सरकार ने ग्रीन,ऑरेंज और रेड जोन में आनेवाले शराब की दुकानों को खोलने का आदेश रविवार को पारित किया। इस आदेश के बाद मानों शहर के बेवड़ों की लॉक डाउन की इस अवधि में मनोकामना पूरी हो गई। सुबह होते ही 7 बजे से ताड़देव एसी मार्किट स्थित आशीष वाइन शॉप के बाहर शराब लेने के लिए लोगों की लंबी कतार दिखी। मानों किसी मंदिर में दर्शन लेने के लिए भक्तों की लंबी कतार लगी हो। परंतु काफी लंबा समय बीत जाने के बाद भी जब 11 बजे तक दुकान नहीं खुली तो लंबी भीड़ देखकर पुलिसवालों ने कतार में खड़ी शराबियों की भीड़ को खदेड़ दिया, जब सामना संवाददाता ने पुलिसवालों से बात की तो पुलिसवालों ने बताया कि सर्कुलर अभी तक वाइन शॉपवालों को जारी नहीं हुआ है। इसलिए अभी वाइन शॉप नहीं खुली है। शराब की दुकान न खुलने के कारण एक बार फिर कतार में खड़े शराबियों का गला कल गीला होने से रह गया।