बॉलीवुड की `भाईगीरी! कैमरामैन ने मांगा निर्माता से हफ्ता

फिल्म प्रोडूसर से हफ्ता मांगनेवाले तीन युवकों को क्राइम ब्रांच यूनिट-११ द्वारा गिरफ्तार किया गया है। हफ्ता मांगनेवाला युवक खुद को गैंगस्टर बताता था और प्रोडूसर को डराने के लिए उसने अपने व्हॉट्सऐप पर छोटा राजन का फोटो लगा रखा था। गिरफ्तार तीनों युवकों में से शशांक सुमन पेशे से वैâमरामैन है। शशांक एक कांग्रेसी नेता का भांंजा है। इस घटना के बाद एक बार फिर बालीवुड में `भाईगिरि’ दिखाई दी।
खबर के अनुसार शिकायतकर्ता प्रदीप कुमार फिल्म प्रोडूसर हैं और मालाड (प) के इन ऑर्बिट मॉल के पास अपने परिवार के साथ रहते हैं। उन्हें इसी महीने के ४ तारीख से छोटा राजन के नाम पर २५ लाख रुपए की हफ्तावसूली का फोन आ रहा था। यहां तक कि हफ्ता मांगनेवाला कुमार के गाड़ी का नंबर, उनकी पत्नी किस जिम में जाती है, उनके बच्चे किस स्कूल में पढ़ते हैं सब जानता था। पैसे नहीं देने पर अंजाम भुगतने की धमकी देता था। घबराकर उन्होंने इस बात की शिकायत क्राइम ब्रांच यूनिट-११ के साथ ही पुलिस मुख्यालय स्थित क्राइम ब्रांच के मुख्य कार्यालय में भी की। वरिष्ठ पुलिस निरीक्षक चिमाजी आढव ने बताया कि जिस मोबाइल नंबर से कुमार को फोन आ रहा था, उसको क्राइम ब्रांच के अधिकारी ट्रेस कर रहे थे। सोमवार को उक्त नंबर का लोकेशन मनोरी बताया तो वहां से क्राइम ब्रांच के अधिकारी रोहन रेडेकर को गिरफ्तार करने में सफल रहे। पूछताछ में उसने बताया कि प्रोडूसर कुमार की पूरी जानकारी शशांक सुमन ने उसके व्हॉट्सऐप पर दी थी। साथ ही शशांक को उसने अपना दोस्त भी बताया। पेशे से फिल्म इंडस्ट्री में वैâमरा मैन शशांक, जो मालाड लिंक रोड स्थित मूवी टाइम के पास रहता है। पुलिस ने उसके घर से गिरफ्तार कर लिया। गिरफ्तारी के बाद क्राइम ब्रांच अधिकारियों को उसने बताया कि मालाड (प) के जनकल्याण नगर में उसका दोस्त भूपेश कुमार रहता है। वह फिल्म डायरेक्टर है। उसका पैसा कुमार के यहां बाकी है, जो वह नहीं दे रहा था। भूपेश ने ही कुमार की पूरी जानकारी उसको व्हॉट्सऐप पर भेजी थी, जो उसने रेडेकर को दी थी। हफ्ता वसूली के इस मामले में क्राइम ब्रांच ने तीनों को गिरफ्तार कर बांगुर नगर पुलिस स्टेशन में एफआईआर दर्ज कराई है।