बॉलीवुड स्टार का सरोगेसी शोषण संसद तक पहुंची आवाज

हमारे समाज में विवाहित महिला को प्रसूति (बच्चे के जन्म) के बाद ही पूर्णता प्राप्त होती है। संतान उत्पत्ति में असमर्थ महिला को बांझ कहकर लोग ताने मारते हैं। समाज और परिवार में उन्हें हीन भावना से देखा जाता है। आधुनिक विज्ञान ने ऐसी महिलाओं के लिए आईवीएफ (इन विट्रो फर्टिलाइजेशन) यानी टेस्ट ट्यूब बेबी तथा आईवीएफ सरोगेसी (गर्भावस्था मां) मातृत्व सुख का उपभोग सुलभ बना दिया लेकिन गर्भाधान को लेकर कुछ भ्रांतियों के कारण अमीर घरों की महिलाएं गरीब महिलाओं को चंद रुपए का लालच देकर इनका शारीरिक शोषण करती हैं। सरोगेसी में बॉलीवुड से जुड़ी हस्तियां सबसे आगे हैं। सरोगेसी की आड़ में बॉलीवुड हस्तियों पर शोषण किए आरोप लगाते हुए एक सांसद ने कल इस मुद्दे को संसद में उठाया।
बता दें कि टीएमसी सांसद काकोली घोस ने सरोगेसी बिल के पक्ष में भाषण देते हुए इससे जुड़े नियमों को और सख्त बनाने की मांग की। घोस ने आरोप लगाया कि पैâशन और फिगर के लिए बॉलीवुड स्टार्स सरोगेसी के जरिए माता-पिता बनते हैं, जो पूरी तरह से बंद होना चाहिए। साथ ही उन्होंने मांग की है कि व्यावसायिक सरोगेसी को पूरी तरह से बैन किया जाना चाहिए। गौरतलब हो कि फराह खान-शिरीष कुंदर, आमिर खान-किरण राव, शाहरुख खान-गौरी खान, सोहैल खान-सीमा, कृष्णा अभिषेक-कश्मिरा शाह, सनी लियोनी-डेनियल वेबर, श्रेयस तलपदे-दीप्ति, लिजा रे-जेशन डेहनी आदि बॉलीवुड से ऐसे दंपति हैं, जिन्हें सरोगेसी के जरिए संतान सुख प्राप्त हुआ है जबकि बॉलीवुड स्टार तुषार कपूर तथा फिल्म निर्माता करण जौहर अविवाहित होने के बाद भी सरोगसी के जरिए पिता बने हैं।