बोला पंढरपुर ‘अबकी बार’ पहले मंदिर, फिर सरकार, राम मंदिर निर्माण का बजेगा बिगुल

देश और महाराष्ट्र में राम राज्य और शिवशाही लाने का संकल्प शिवसेनापक्षप्रमुख उद्धव ठाकरे ने लिया है। यह संकल्प पूर्ण हो, इसके लिए उद्धव ठाकरे श्री विठूमाउली का आशीर्वाद लेने और भक्तों से मिलने के लिए आज पंढरपुर आनेवाले हैं। ‘न भूतो न भविष्यति’, ऐसी विशाल सभा शिवसेनापक्षप्रमुख उद्धव ठाकरे की प्रमुख उपस्थिति में चंद्रभागा मैदान में होनेवाली है। इस विशाल सभा में ‘पहले मंदिर, फिर सरकार’ इस जयघोष के साथ राम मंदिर के निर्माण का बिगुल बजाया जाएगा। राम मंदिर का निर्माण होना ही चाहिए, यही इस विशाल सभा का मुख्य उद्देश्य है, यह बात शिवसेना नेता व पर्यावरण मंत्री रामदास कदम ने कल पत्रकार परिषद में कही। आज होनेवाली विशाल सभा की ओर महाराष्ट्र ही नहीं पूरे देश की नजरें टिकी हुई हैं। राम मंदिर के अलावा सूखा और किसानों की कर्जमाफी भी शिवसेना के एजेंडा पर है। शिवसेनापक्षप्रमुख उद्धव ठाकरे की तोप किस पर चलेगी, इसको लेकर राम भक्त, किसान, शिवसैनिक, वारकरी संप्रदाय और साधु-महंतों में उत्सुकता बनी हुई है।
पंढरपुर के चंद्रभागा मैदान में शिवसेनापक्षप्रमुख उद्धव ठाकरे की आज होनेवाली विशाल सभा के नियोजन की जानकारी देने के लिए शिवसेना नेताओं द्वारा धनश्री होटल में पत्रकार परिषद का आयोजन किया गया था। इस पत्रकार परिषद में शिवसेना नेता व सांसद संजय राऊत, पर्यावरण मंत्री रामदास कदम, सार्वजनिक निर्माण मंत्री एकनाथ शिंदे, शिवसेना सचिव व सांसद अनिल देसाई, सांसद अरविंद सावंत, विधायक तानाजी सावंत आदि उपस्थित थे। पत्रकारों को संबोधित करते हुए पर्यावरण मंत्री रामदास कदम ने बताया कि राम मंदिर का मुद्दा शिवसेना ने जोर-शोर से उठाया है। शिवसेनापक्षप्रमुख उद्धव ठाकरे के अयोध्या दौरे की चर्चा आज भी देश भर में हो रही है। इस दौरे को देश भर में जोरदार प्रतिसाद मिला है। इसी राम मंदिर निर्माण का बिगुल उद्धव ठाकरे दक्षिण की काशी मानी जानेवाली पंढरपुर में बजानेवाले हैं, जिस पर पूरे देश की निगाहें टिकी हुई हैं। रामदास कदम ने बताया कि पिछले ३० वर्षों से राम मंदिर निर्माण का मुद्दा विचाराधीन है। राम मंदिर निर्माण के लिए र्इंट तक जुटाई गर्इं लेकिन मंदिर का निर्माण अभी तक बना हुआ है। राम के नाम पर सत्ता में आई भाजपा सरकार राम को भूल गई है। कानून बनाकर व अध्यादेश लाकर सरकार राम मंदिर के निर्माण का मार्ग प्रशस्त कर सकती है लेकिन सरकार ने इसके लिए अभी तक ठोस कदम नहीं उठाया है। रामदास कदम ने कहा कि सिर्फ हिंदुओं के साथ ही नहीं बल्कि भाजपा को सत्ता में लानेवाली आरएसएस के साथ भी विश्वासघात किया है इसलिए अब शिवसेना ने ‘पहले मंदिर फिर सरकार’ का नारा दिया है। रामदास कदम ने बताया कि सभा के बाद उद्धव ठाकरे सपरिवार चंद्रभागा नदी की आरती करेंगे और लाखों दीये नदी में प्रवाहित कर राम मंदिर निर्माण की मनोकामना की जाएगी।

अभी समय है -संजय राऊत
पंढरपुर में होनेवाली विशाल सभा में पश्चिम महाराष्ट्र के कई दिग्गज नेता शिवसेना में शामिल होंगे, ऐसी चर्चा जोरों पर है। पत्रकारों के इस सवाल के जवाब में शिवसेना नेता व सांसद संजय राऊत ने कहा कि पंढरपुर की विशाल सभा कोई राजनीतिक नहीं है। यह विशाल सभा केवल राम मंदिर, सूखा, कर्जमाफी और बेरोजगारी को लेकर हो रही है। शिवसेना में शामिल होनेवालों की सूची काफी लंबी है। यह सूची ‘मातोश्री’ पहुंच चुकी है। उचित समय पर इसके लिए अलग से कार्यक्रम आयोजित किया जाएगा, ऐसा भी संजय राऊत ने कहा।

विठाई बस सेवा का शुभारंभ
पंढरपुर में आनेवाले श्रद्धालुओं के लिए विठाई बस सेवा शुरू की जाएगी। इसका शुभारंभ शिवसेनापक्षप्रमुख उद्धव ठाकरे के हाथों आज होगा। पंढरपुर में आनेवाले वारकरी व श्रद्धालुओं के रहने के लिए ३५ करोड़ रुपए खर्च कर घर बनाए जाएंगे।

चंद्रभागा की सफाई के लिए २० करोड़ रुपए होंगे खर्च
चंद्रभागा नदी की सफाई और श्रद्धालुओं को विशेष सुविधा देने के लिए २० करोड़ रुपए पर्यावरण मंत्रालय की ओर से खर्च किए जाएंगे। शौचालय और कपड़े बदलने के लिए कक्ष भी बनाए जाएंगे।