ब्रजेश्वरी मंदिर में १५ लाख की डकैती, भक्तों ने गांव व मंदिर को किया बंद

भिवंडी तालुका क्षेत्र में अब हिंदुओं का श्रद्धास्थल मंदिर भी सुरक्षित नहीं है। ग्रामीण इलाके के मशहूर पुरातन ब्रजेश्वरी मंदिर में अज्ञात सशस्त्र लुटेरों ने वॉचमैन की पिटाई कर और उसे बांधकर हथियार की नोक पर दानपेटी से १५ लाख की डवैâती कर फरार हो गए हैं। घटना की खबर लगते ही हिंदुओं में जोरदार आक्रोश है। विरोध स्वरूप लोगों ने मंदिर तो बंद रखा ही गांव को भी पूरी तरह बंद रखा। इधर पुलिस ने डवैâतों पर मामला दर्ज कर सीसीटीवी फुटेज के आधार पर उनकी तलाश शुरू कर दी है।
मालूम हो कि भिवंडी तालुका क्षेत्र में गणेशपुरी व ब्रजेश्वरी तीर्थस्थल के रूप में मशहूर है। जहां पर दूर-दराज से लोग पुरातन ब्रजेश्वरी मंदिर में देवी के दर्शनार्थ आते हैं। इसी मंदिर में १० मई को सुबह करीब तीन बजे ४-५ सशस्त्र लुटेरों ने मंदिर में घुसकर चॉपर, तलवार व चाकू की नोक पर पहले वॉचमैन कथोड चौड़े की पिटाई की और उसे बांध दिया। उसके बाद मंदिर की दानपेटी लूटकर फरार हो गए। पूरी लूटपाट की घटना मंदिर परिसर में लगे सीसीटीवी वैâमरे में वैâद हो गई है। ब्रजेश्वरी देवी मंदिर की ट्रस्टी अनीता गोसावी के अनुसार मंदिर की दान पेटी में करीब १२ से १५ लाख रुपए भक्तों द्वारा डाले गए थे, जो डवैâत ले गए हैं। मंदिर में लूटपाट की खबर आग की तरह पैâलते ही हिंदुओं में आक्रोश पैâल गया। हजारों हिंदू इस लूटपाट के विरोध में सड़क पर उतर गए। इतना ही नहीं लोगों ने इस परिसर की दुकानों व व्यावसायिक प्रतिष्ठानों तक को बंद करा दिया। गणेशपुरी क्षेत्र के उपअधीक्षक दिलीप गोडबोले दलबल सहित मंदिर पहुंचकर समुचित जांच-पड़ताल का आदेश दिया। पुलिस श्वान पथक के साथ मंदिर में लगे सीसीटीवी वैâमरे के फुटेज के द्वारा जांच की जा रही है।

पहले भी हो चुकी हैं घटनाएं
इससे पहले भी तीन बार मंदिर में चोरी की घटनाएं घट चुकी हैं। मंदिर सहित दत्त मंदिर तथा अन्य मंदिरों में दान पेटी से पैसा चोरी होने की घटनाएं घटित हो चुकी है, जिसकी जांच अभी तक लंबित है। इस डवैâती ने मंदिर की सुरक्षा पर प्रश्नचिह्न लगा दिया है। डवैâती के विरोध में मंदिर बंद होने के कारण दूर-दूर से दर्शन के लिए आनेवाले भक्तों को परेशानी का सामना करना पड़ा।