ब्रांडेड दूध में गंदे पानी की मिलावट, सैकड़ों थैलियां बरामद

जीवनावश्यक वस्तुओं में शामिल दूध को मिलावट से मुक्त रखने के लिए सरकार ने कड़े कानून बना रखे हैं। बावजूद इसके मिलावटखोर  दूध को जहर बनाने से बाज नहीं आ रहे हैं। इसका खुलासा हाल ही में मुंबई क्राइम ब्रांच यूनिट-११ की कार्रवाई में हुआ है। यूनिट-११ की टीम ने गुप्त सूचना के आधार पर छापा मारकर अमूल और गोकूल ब्रांड की करीब ६२९ थैलियों में भरा मिलावटी दूध जप्त किया।
जानकारी के अनुसार यूनिट-११ के वरिष्ठ पुलिस निरीक्षक चिमाजी आढ़ाव को दूध में मिलावट करनेवाले गिरोह की जानकारी मिली थी। यूनिट-११ के पीआई अरविंद घाग के नेतृत्व में रईस शेख और एपीआई शरद झीने  की टीम ने एफडीए अधिकारियों के साथ कल भोर में मालाड-पूर्व, क्वारी रोड स्थित एक मकान में छापा मारकर अमूल और गोकूल ब्रांड के आधा लीटर दूध की थैली में भरे करीब २०० थैली मिलावटी दूध जप्त किया। मिलावटखोर दूध की थैली ब्लेड से काटकर इंजेक्शन से उसमें से कुछ दूध निकाल लेते थे तथा उसमें उतना ही पानी मिला देते थे। बाद में थैली में से निकाले गए दूध में पानी मिलाकर उसे दूसरी थैलियों में भर देते थे। मिलावटखोरों से मिली सूचना के आधार पर  टीम ने दिंडोशी पुलिस की हद में गोरेगांव-पूर्व, र्इंट भट्टी इलाका स्थित सरस्वती चाल में छापा मार कर ५०० मिली लीटर वाली ४२९ थैली मिलावटी दूध बरामद किया। पुलिस ने गिरोह के मुखिया कृष्णा अंबाती, अंजैया मुत्याला, शंकर रचमल्ला, सैदालूअलेती, सुजाता मुत्याला तथा रामुलुम्मा यल्लैआह को गिरफ्तार किया है।