ब्लैकमेलरों का ‘लकी’ ट्रैप, मसाज के बहाने बना डाली पोर्न फिल्म

६० वर्षीय बीमार बुजुर्ग को मसाज कराना खासा भारी पड़ गया। ब्लैकमेलरों ने उक्त बुजुर्ग को ‘लकी’ ट्रैप में फंसा कर मसाज की पोर्न वीडियो फिल्म बना डाली। इसके जरिए वे बुजुर्ग के बेटे को ब्लैकमेल करने लगे। खुद को पत्रकार बतानेवाले उक्त ब्लैकमेलर बुजुर्ग के बेटे से २५ करोड़ रुपए की मांग कर रहे थे। पुलिस ने ५ लाख रुपए की पहली किश्त स्वीकारते समय उन्हें गिरफ्तार कर लिया।
बता दें कि ६० वर्षीय सुरेश मखीजा (काल्पनिक नाम) पार्विंâसन नामक बीमारी से ग्रस्त हैं। इसके लिए उन्हें दवाओं के साथ-साथ रोज शरीर की मालिश करानी पड़ती है। करीब ६ महीने पहले सुरेश की मुलाकात लकी मिश्रा नामक महिला से हुई थी। खुद को थैरेपिस्ट बतानेवाली लकी ने कम कीमत में बेहतरीन मसाज करने का झांसा सुरेश को दिया था। अक्टूबर-२०१८ से दिसंबर-२०१८ के बीच सुरेश ने लकी को ३ बार मसाज के लिए बुलाया था। १५ जनवरी को सुरेश के बेटे विकास को उसके दोस्त ने फोन करके बताया कि खुद को मीडियाकर्मी बतानेवाले कुछ लोगों ने दावा किया है कि उनके पास सुरेश की आपत्तिजनक वीडियो फिल्म है। वे उस फिल्म को न्यूज चैनल पर चलाने और पुलिस में शिकायत करने की धमकी दे रहे हैं। अपने मित्रों के माध्यम से विकास जब तथाकथित ब्लैकमेलरों से मिले तो उन्होंने एक अश्लील वीडियो फिल्म दिखाई, जो कि स्पष्ट रूप से छेड़छाड़ करके बनाई गई प्रतीत हो रही थी। ब्लैकमेलरों की धमकी से तंग आकर विकास ने इसकी शिकायत अंबोली पुलिस थाने में दर्ज करा दी। वरिष्ठ पुलिस निरीक्षक भरत गायकवाड़ के मार्गदर्शन व पीआई दया नायक के नेतृत्व में पीआई राधेश्याम शर्मा व उनके सहयोगियों ने हफ्ते की पहली किश्त के रूप में ५ लाख रुपए स्वीकार करते समय हुसैन हनीफ मकरानी, युवराज सिंह नरेंद्र सिंह चौहान, रहमान अब्दुल वाहिद शेख, कुमारी लकी मिश्रा को दबोच लिया। बाद में ब्लैकमेलरों के साथ राहुल शुक्ल, केवल कुमार उर्फ अंकल और गिरीश शाह को भी पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया। आरोपी हुसैन खुद को न्यूज चैनल का मालिक बताता था, जबकि युवराज उसका पार्टनर व राहुल रिपोर्टर थे।