बड़े बेआबरू होकर तेरे कूचे से हम निकले

दुनिया की सबसे खतरनाक टीम बनकर टीम इंडिया इंग्लैंड दौरे पर गई थी मगर बड़े बे-आबरू होकर तेरे कूचे से हम निकले की तर्ज पर स्वदेश वापसी हो रही है। बुरी तरह हारकर लौटनेवाली शास्त्री-कोहली की टीम में ऐसा कुछ नहीं दिखा, जिसमें कोच की मेहरबानी हो या बेहतरीन कप्तानी का नजारा पेश हुआ हो। हां, ये कह सकते हैं कि कुछ खिलाड़ियों ने समय-समय पर रिकॉर्ड बनाए मगर टीम इंडिया को जीत नहीं दिला पाए। बहरहाल टीम इंडिया के इंग्लैंड दौरे का आखिरी टेस्ट मैच रोमांचक अंदाज में समाप्त हुआ। इंग्लैंड ने टीम इंडिया को इस मैच में ११८ रनों से शिकस्त दी। इस तरह से यह सीरीज इंग्लैंड ने ४-१ से जीती। इंग्लैंड के दिए ४६४ रनों के लक्ष्य का पीछा करने उतरी टीम इंडिया ३४५ रन बनाकर आउट हुई। टीम इंडिया ने एक समय केवल २ रन पर ३ विकेट खो दिए थे। तब लगा कि इंग्लैंड इस मैच में जीत से ज्यादा दूर नहीं है लेकिन के.एल. राहुल ने बेहतरीन पारी से इंग्लैंड को जीत से दूर कर दिया और मैच अंतिम सेशन में चला गया था। टीम इंडिया की दूसरी पारी में के.एल. राहुल और ऋषभ पंत जब तक क्रीज पर थे तब तक टीम इंडिया मैच में थी। उम्मीद की जा रही थी कि दोनों मैच ड्रॉ करा सकते हैं लेकिन जैसे ही दोनों आउट हुए, इंग्लैंड ने वापसी करते हुए टीम इंडिया को ३४५ रन पर समेट दिया और सीरीज का स्कोर ४-१ कर दिया। केवल ट्वेंटी / २० मैचों की सीरीज में जीतकर लौट रही इस टीम इंडिया में विराट कोहली, ऋषभ पंत, बुमराह, राहुल जैसे खिलाड़ी ही रहे, जिनके नाम चर्चा में रहे बाकी ने टीम को हारने का ही काम किया। हर वक्त अंग्रेजों ने कोहली एंड कंपनी की कमर तोड़ी। शायद कोहली एंड कंपनी का घमंड चूर हुआ होगा। काश, ऐसा ही हो।