भाजपा के मंच पर आजमी!, मुस्लिम मतदाता भ्रमित

लोकसभा चुनाव में उत्तर-पूर्व मुंबई लोकसभा निर्वाचन क्षेत्र में सपा नगरसेवक रईस शेख द्वारा भाजपा उम्मीदवार को सहयोग करने का मुद्दा पूरी तरह शांत भी नहीं हुआ था कि दही हंडी उत्सव में स्वयं सपा अध्यक्ष (महाराष्ट्र) व विधायक अबू आसिम आजमी ने भाजपा के मंच पर पहुंचकर एक नए विवाद को जन्म दे दिया है। सोशल मीडिया पर आजमी की उक्त तस्वीर वायरल होने से लोगों ने उन्हें ट्रोल करना शुरू कर दिया है। इस ट्रोल में उन्हें दोगलेपन की उपाधि तक दी गई।
बता दें कि परसों दही हंडी उत्सव था। इस उपलक्ष्य में मानखुर्द में कल भाजपा कार्यकर्ताओं की ओर से विशाल मंच बनाया गया था। इस मंच पर अबू आसिम आजमी अपने कार्यकर्ताओं के साथ विराजित दिखे। इतना ही नहीं, भाजपा कार्यकर्ताओं से उन्होंने अपना सम्मान तक करवाया। भाजपा के मंच पर आजमी को देखकर उनके ही विधानसभा क्षेत्र के मुस्लिम मतदाता सन्न रह गए क्योंकि यही आजमी अपने मंच से भाजपा को मुसलमानों का दुश्मन बताते रहे और मुसलमानों का वोट हासिल करते रहे। सोशल मीडिया में तो इसको लेकर आजमी को ट्रोल भी किया गया। भाजपा से जुड़े मुस्लिम कार्यकर्ताओं सहित मुस्लिम मतदाताओं ने इसको लेकर सोशल मीडिया पर आजमी की खूब खिंचाई की। मुस्लिम मतदाताओं ने कहा कि इस बार आजमी को अपनी सीट खतरे में दिखाई दे रही है इसलिए अपनी सीट बचाने के लिए भाजपा का सहयोग हासिल करने हेतु वे उनके मंच पर जा रहे हैं। उत्तर-पूर्व मुंबई भाजपा की सचिव शमीम बानू ने सोशल मीडिया पर तो आजमी से ही सवाल कर दिया कि आपकी डीएनए जांच कहां कराई जाए? क्योंकि आजमी ने हाल ही में एक कार्यक्रम में भाजपा की मुस्लिम महिला कार्यकर्ताओं की डीएनए जांच कराने की बात कही थी। इसी प्रकार महाराष्ट्र अल्पसंख्यक मोर्चा के सचिव हुसैन खान ने भी आजमी के दोगले रवैये पर सवाल उठाया। उन्होंने कहा कि भाजपा कभी मुसलमान विद्रोही नहीं है लेकिन आजमी अपना वोट बैंक बनाने के लिए हमेशा मुसलमानों को भाजपा के नाम पर गुमराह करते रहे हैं। आजमी जहां कल भाजपा के मंच पर नजर आए, वहीं उन्हीं की पार्टी के युवा कार्यकर्ता फहाद आजमी मनसे के मंच पर भी नजर आए। आजमी और उनके पार्टी कार्यकर्ताओं के दोहरे चेहरे पर मानखुर्द-शिवाजीनगर विधानसभा के मतदाता थू-थू कर रहे हैं। हालांकि जब इस संबंध में आजमी से पूछा गया तो उन्होंने भाजपा के मंच पर जाने की पुष्टि करते हुए कहा कि वे भी भाजपा कार्यकर्ताओं को अपनी पार्टी में लाने के लिए सेंधमारी करने वहां गए थे।