भिंडीबाजार टाइट, निवासियों को गंदगी फैलाने के लिए थोक में नोटिस

दक्षिण मुंबई का भिंडी बाजार इलाका वैसे तो खान-पान और सामानों की खरीददारी और थोक बाजार को लेकर पूरे मुंबई में मशहूर है। परंतु अब मनपा ने यहां के निवासियों को कचरे व गंदगी की समस्या के चलते टाइट किया है। दरअसल यहां की हाउस गली गंदगी पैâलाने में अव्वल बनी है। सफाई को लेकर जनजागृति करने के बाद भी यहां के निवासी जागरूक नहीं हो रहे हैं। घरों के कू़ड़े-कचरे के साथ ही मल निकासी के टूटे हुए पाइपों के कारण परिसर में काफी गंदगी बनी हुई है। इससे विभिन्न प्रकार की बीमारी से लोग शिकार हो रहे हैं। इसे अब मनपा प्रशासन ने गंभीरता से लिया है। गंदगी पैâलानेवाले यहां के निवासियों को थोक में नोटिस जारी की गई है।
बता दें कि दक्षिण मुंबई के भिंडी बाजार, निशानपाड़ा रोड, सीपी टैंक, पांचवां कुंभारवाड़ा, नानुभाई देसाई रोड, अब्दुर्रहमान स्ट्रीट, मौलाना शौकत अली रोड आदि परिसर में बड़ी संख्या में इमारतें हैं। दो इमारतों के बीच आधे से एक फुट चौड़ी ऐसी करीब दो हजार हाउस गली हैं। इमारतों के निवासी घरों का कचरा कूड़ेदान में डालने की बजाय हाउस गली के बीचोबीच फेंकते हैं। कचरों से हाउस गली पूरी तरह पट गई है। इन कचरों से क्षेत्र में चूहे और मच्छरों का प्रभाव काफी बढ़ गया है। इससे मलेरिया, डेंगू और लेप्टोस्पायरोसिस जैसी बीमारियों से लोग परेशान हैं। इतना ही नहीं इन्हीं गलियों से गुजरती पानी की पाइप से हजारों घरों में जल की आपूर्ति होती है। जर्जर हुई पाइप लाइन से यहां पानी का रिसाव होते रहता है। इसके अलावा टूटी हुई मल निकासी की पाइप लाइन से यहां जल जमाव हमेशा रहता है। जल जमाव से यहां मच्छरों के लार्वा हमेशा पनपते हैं जिससे आसपास के परिसरों में मच्छरों का प्रभाव काफी बढ़ गया है। सफाई को लेकर यहां समय-समय पर वॉर्ड कार्यालय और घनकचरा व्यवस्थापन विभाग की ओर से जनजागृति की जाती है। घर-घर जाकर लोगों को गली में कचरा फेंकने की अपील भी की जाती है। इसके बाद भी लोग अपनी हरकतों से बाज नहीं आ रहे हैं जिसे मनपा प्रशासन ने गंभीरता से लिया है। मनपा के प्रशासनिक ‘सी’ वॉर्ड कार्यालय ने करीब ५०० परिवारों को नोटिस जारी किया है। ‘सी’ वॉर्ड के सहायक आयुक्त सुनील सरदार ने नोटिस दिए जाने की बात की पुष्टि की है। सरदार का कहना है कि अगर निवासी कचरा न फेंकें तो हाउस गली स्वच्छ रहेगी।