भैंस चोरी के मामले में नहीं खाई कसम तो हुक्का पानी बंद, एक लाख रुपए का जुर्माना भी लगाया

यूपी के सीतापुर जिले से एक सामाजिक उत्पीड़न का मामला सामने आया है। मामला थाना सदरपुर के ग्राम पोखरा कलां की है। यहां पर भैस चोरी की कसम न खाने पर एक परिवार का हुक्का-पानी बंद करने और जुर्माने में एक लाख रुपए तथा सात जवार का खाना खिलाने का तुगलकी फरमान पंचायत ने सुनाया है। इतना ही नहीं, सोनकर बिरादरी के सैकड़ों गांवों में बसे लोगों को पैâसले की चिट्ठियां भी भेज दी गई हैं। समाज से बहिष्कृत परिवार भागा-भागा घूम रहा है।
सामाजिक उत्पीड़न के इस मामले में सदरपुर थानाक्षेत्र के पोखराकलां गांव निवासी प्रेम पुत्र आशाराम व उसके बेटे ललित ने बताया कि बीते माह ६ दिसंबर की रात उनके दरवाजे से दो भैंसा चोरी हो गए थे। उसने सात दिसंबर को सदरपुर थाने में प्रार्थना पत्र भी दिया था। कुछ दिन बीतने के बाद प्रेम को गांव के ही कुछ लोगों पर शक हुआ। गांववालों ने मिलकर चौपाल आयोजित कर सबको कसम खाने पर सहमति बनाई। गांव में स्थित ब्रह्मचारी बाबा के स्थान पर प्रेम ने गांव के कुर्मी, धोबी, कहार, गुप्ता के साथ भार्गव बिरादरी के इंदर पुत्र खुशीराम ने चोरी न करने की कसम खाई। बताया जाता है कि कसम में ये शर्त रखी गई थी कि यदि कसम पूरी नहीं होगी तो जुर्माने में एक लाख रुपए व सात जवार का खाना प्रेम को देना पड़ेगा।