भ्रम का कद्दू फूटा तो भाग नहीं पाओगे!, उद्धव ठाकरे ने सरकार को चेताया

किसान कहते हैं कि राज्य में बारिश नहीं सूखा पड़ा है। मैं कहता हूं कहां है सूखा! राज्य में जोरदार बारिश हो रही है, लेकिन यह बारिश सरकार के गप की है, योजनाओं और आश्वासनों की है। बड़ी-बड़ी गप हांकने से वोट मिलेंगे ऐसा उन्हें लगता है। ऐसे गप हांकनेवालों के वोटों का पानी खेत में मत डालो। अन्यथा ‘गाजर’ (आश्वासन) की खेती फिर लहलहा उठेगी, इन कड़े शब्दों में शिवसेनापक्षप्रमुख उद्धव ठाकरे ने भाजपा सरकार की झूठ का बुर्का फा़ड़ते हुए कहा कि सरकार जनता को भ्रम में रख रही है लेकिन जनता को भ्रम का कद्दू नहीं चाहिए। यह कद्दू फूटा तो भाग नहीं पाओगे।
शिरूर लोकसभा निर्वाचन क्षेत्र की ओर से राजगुरु नगर के कृषि उत्पन्न बाजार समिति के मैदान में शिवसेना का विशाल किसान सम्मेलन हुआ। उद्धव ठाकरे के हाथों हिंदुस्थान के लिए बलिदान देनेवाले शहीद राजगुरु, सुखदेव और भगतसिंह की स्मृति शिल्प का लोकार्पण हुआ। अपनी विशेष शैली में भाषण की शुरुआत में उद्धव ठाकरे ने शहीदों को मानवंदना देते हुए कहा कि प्रधानमंत्री कहते हैं कि एक परिवार के चलते देश की राजनीति में दूसरों को मौका नहीं मिला। वल्लभभाई पटेल, नेताजी सुभाषचंद्र बोस अगर प्रधानमंत्री होते तो आज का दृश्य अलग होता। सच है ये, वल्लभभाई और नेताजी प्रधानमंत्री नहीं बन पाए, यह दुर्भाग्य है लेकिन इतिहास में जिन्होंने बलिदान दिया, वो किसी नाम या कुछ पाने के लिए नहीं। स्वातंत्र्यवीर सावरकर ने जीवन में मरण यातना झेली। उम्र के १७वें साल में खुदीराम बोस फांसी पर चढ़ गए। भगतसिंह, सुखदेव, राजगुरु ने भी हंसते-हंसते फांसी को गले लगाया। उनके बलिदान के कारण ही अंग्रेज भाग खड़े हुए। उनका बलिदान भुलाया नहीं जा सकता। लोकमान्य तिलक ने स्वराज मेरा जन्मसिद्ध अधिकार है, जिसे मैं हासिल करके रहूंगा, ऐसा नारा देते हुए स्वराज्य हासिल किया। लेकिन आज का स्वराज्य तिलक को मंजूर होता क्या? ऐसा सवाल करते हुए उद्धव ठाकरे ने कहा कि आप देश के राजकर्ता हैं। देश वैâसे चलाना है, इसका विचार करना चाहिए। इस दौरान उद्धव ठाकरे ने मोदी द्वारा की गई बड़ी-बड़ी घोषणाबाजी की भी जमकर खबर ली। उन्होंने कटाक्ष करते हुए कहा कि दो दिन पहले वे शिर्डी आए और कहा कि सभी को मुफ्त में मकान देंगे। ऐसी जुमलेबाजी करने का मतलब लोग हमें वोट दें। उज्ज्वला योजना का भी ऐसा ही हुआ। ५ करोड़ महिलाओं को अभी तक गैस दिया गया है, ऐसा कहा जाता है लेकिन सच्चाई कुछ अलग है। गैस लाने के लिए लोगों को दूर तक जाना पड़ता है। एक गैस सिलेंडर के लिए हजार रुपए खर्च करने पड़ते हैं। अब मोदी चुनाव तक यह आंकड़ा ५०० करोड़ तक कर देंगे। क्योंकि मोदी के मुताबिक देश की जनसंख्या ६०० करोड़ है। इस दौरान उद्धव ठाकरे ने राष्ट्रवादी के नेताओं पर भी निशाना साधते हुए कहा कि राष्ट्रवादी के नेताओं को बांध के आस-पास भी आने न दो। इस मौके पर सांसद शिवाजीराव आढलराव-पाटील, राज्यमंत्री विजय शिवतारे, उपनेता नीलम गोर्‍हे, विधायक सुरेश गोर्‍हे, जिला समन्वयक रवींद्र मिर्लेकर आदि उपस्थित थे।