मंधाना का विस्फोट

टीम इंडिया की खूबसूरत खिलाड़ी स्मृति मंधाना के विस्फोट में वैâरेबियन महिलाएं उड़ गई। हिंदुस्थानी महिला टीम ने नॉर्थ स्टैंड में खेले गए सीरीज के तीसरे और आखिरी वनडे मैच में वेस्टइंडीज को ६ विकेट से हराकर २-१ से सीरीज भी अपने नाम कर ली। पहले बल्लेबाजी करते हुए मेजबान टीम १९४ रनों पर ही सिमट गई। जवाब में टीम इंडिया ने ४७ गेंद पहले ही चार विकेट के नुकसान पर लक्ष्य हासिल कर लिया। टीम की यह बड़ी जीत स्मृति मंधाना के नाम रहीं, जिन्होंने ६३ गेंदों पर ७४ रन बनाए। अपनी इस लाजवाब पारी के दम पर मंधाना ने हिंदुस्थानी क्रिकेट इतिहास में एक कीर्तिमान भी स्थापित कर दिया। १० अप्रैल २०१३ को अमदाबाद में इंटरनेशनल स्तर पर वनडे क्रिकेट में पदार्पण करनेवाली मंधाना ने ७४ रनों की पारी के दम पर वनडे क्रिकेट में अपने २,००० रन भी पूरे कर लिए हैं और सिर्फ ५१ पारियों में उन्होंने ऐसा किया। वनडे क्रिकेट में सबसे तेज इस क्लब में शामिल होनेवाली वह पहली हिंदुस्थानी और दुनिया की तीसरी महिला क्रिकेटर बन गई हैं। उनसे पहले इस लिस्ट में बेलिंडा क्लार्क और मेग लेनिंग का नाम आता है। बेंलिडा ने ४१ और मेग लेनिंग ने ४५ गेंदों में यह कारनामा किया। वेस्टइंडीज टीम के दिए लक्ष्य का पीछा करने उतरी टीम इंडिया को जेमिमा रोड्रिग्स और स्मृति मंधाना ने मजूबत शुरुआत दिलाई। इस सलामी जोड़ी के बीच १४१ रनों की साझेदारी हुई। जेमिमा ने ६९ रन बनाए, वहीं पूनम राऊत ने २४, मिताली राज ने २० रनों का योगदान दिया। हरमनप्रीत कौर शून्य और दीप्ति शर्मा चार रन पर नाबाद रहीं। इससे पहले झूलन गोस्वामी और पूनम यादव ने दो-दो विकेट, शिखा पांडे, राजेश्वरी गायकवाड़ और दीप्ति शर्मा ने एक-एक विकेट लेकर वेस्टइंडीज को मुश्किल में डाल दिया था। स्मृति ने अपनी पारी में नौ चौके और तीन छक्के लगाए।