" /> मई तक नही हटा लॉक डाउन तो 4 करोड़ मोबाइल फोन होंगे बंद

मई तक नही हटा लॉक डाउन तो 4 करोड़ मोबाइल फोन होंगे बंद

कोरोना महामारी के चलते इस समय देश मे लॉक डाउन है। यह अवधि 3 मई को खत्म होने जा रही है। हालांकि इसकी कम ही संभावना लग रही है कि 3 मई के बाद भी सारी गतिविधियां पहले के समान ही शुरू हो पाएगी। इस बीच इंडिया सेल्यूलर एंड इलेक्ट्रॉनिक्स एसोसिएशन (आईसीईए)ने अंदेशा जताया है कि अगर मई के आखिर तक मोबाइल और उसके स्पेयर पार्ट्स बेचने पर प्रतिबंध जारी रहता है तो देश के 4 करोड़ लोग इससे प्रभावित हो सकते हैं और उन्हें बिना मोबाइल के रहना पड़ सकता है।

इंडिया सेल्यूलर एंड इलेक्ट्रॉनिक्स एसोसिएशन (आईसीईए) का अनुमान है कि वर्तमान में देश के 2.5 करोड़ मोबाइल कस्टमर्स के मोबाइल बंद हो चुके हैं क्योंकि उनके डिवाइस के कंपोनेंट सप्लाई चेन प्रभावित होने की वजह से उपलब्ध नहीं हैं। जानकारी के मुताबिक सरकार ने लॉक डाउन के दौरान सिर्फ आवश्यक सामान की बिक्री को ही अनुमति दी है जो पांचवे हफ्ते में पहुंच चुका है। टेलीकॉम, इंटरनेट, ब्रॉडकास्ट और आईटी सर्विसेज को परमिट किया गया है लेकिन मोबाइल सर्विस को नहीं शामिल किया गया। आईसीईए जिसके सदस्य दुनिया के बड़े हैंडसेट निर्माता एप्पल, फ़ॉक्सकॉनन हैं उनका कहना है कि औसतन 2.5 करोड़ नए मोबाइल हर महीने बेचे जाते हैं और वर्तमान में 85 करोड़ एक्टिव मोबाइल फोन हैं। आईसीईए का कहना है कि ‘इस खरीदी का एक बहुत बड़ा हिस्सा रिप्लेसमेंट का होता है। इसके अतिरिक्त, बहुत बेहतर क्वालिटी के फोन और मोबाइल डिवाइस होने पर, लगभग 0.25 प्रतिशत हर महीने यह खराब होते हैं। वर्तमान में 85 करोड़ मोबाइल फोन बेस के हिसाब से लगभग 2.5 करोड़ लोग नए मोबाइल की उपलब्धता न होने या फिर उनके वर्तमान फोन में सुधार न होने से परेशान हैं।’