मतदान पर पड़ेगी छुट्टियों की मार, मुंबईकरों को मिलेगा पिकनिक का मौका

वर्ष २०१९ लोकसभा का चुनाव घोषित हो चुका है। मुंबई महानगर के सभी ६ लोकसभा निर्वाचन क्षेत्रों में २९ अप्रैल को मतदान होगा। हालांकि इस दिन कितने मतदाता मतदान के लिए मुंबई में मौजूद रहेंगे? इस पर अभी से सवाल उठने लगा है। इस बार लोकसभा चुनाव के दौरान मुंबई में मतदान का प्रतिशत घटने की आशंका जताई जा रही है क्योंकि उत्तरभारतीय एवं अन्य राज्यों के लोगों के गांव जाने का मौसम होने और ३ दिन लगातार छुट्टी होने के कारण युवा एवं अमीर लोग इन छुट्टियों का इस्तेमाल पिकनिक मनाने के लिए कर सकते हैं।
चूंकि मुंबई की ऊंची अट्टालिकाओं में रहनेवाले ज्यादातर लोगों पर पहले भी मतदान के प्रति उदासीन रहने का आरोप लगता रहा है। यह वर्ग मतदान के लिए मतदान केंद्रों तक जाने की जहमत कम ही उठाता है। आमतौर पर लंबी छुट्टियों या वीकेंड पर इस वर्ग के लोग पिकनिक के लिए किसी नजदीकी पर्यटन केंद्र पर जाना ज्यादा पसंद करते हैं। इस बार मुंबई के कई युवा भी ऐसे ही लोगों में शामिल हो सकते हैं क्योंकि २७ अप्रैल को महीने का चौथा शनिवार और २८ अप्रैल को रविवार होने के कारण दो दिन की लगातार छुट्टी पहले से निर्धारित थी, उस पर मुंबई की ६ लोकसभा सीटों के लिए २९ अप्रैल (सोमवार) को मतदान होना है अर्थात मतदान के लिए इस दिन मुंबई में सार्वजनिक छुट्टी होगी। ऐसे में राजनीति और मतदान के प्रति उदासीन रहनेवाले कई मुंबईकर खासकर अमीर वर्ग और युवा वर्ग इन छुट्टियों का उपयोग पिकनिक या मौजमस्ती के लिए कर सकते हैं। शुक्रवार की शाम से ही मुंबई व आसपास स्थित पर्यटन स्थलों पर पर्यटकों की भीड़ देखने को मिल सकती है। स्कूली बच्चों की छुट्टी, फसल कटाई और शादी-ब्याह जैसे पारिवारिक उत्सवों के कारण अप्रैल-मई का महीना उत्तरभारतीय मुंबईकरों के लिए मुलुक जाने का महीना होता है। इसलिए २९ अप्रैल से पहले इस बार भी हजारों मुंबईकर अपने गांव चले जाएंगे, जिसका प्रतिकूल असर मुंबई में मतदान पर देखने को मिलेगा।