मदद करने का अलग तरीका, ‘डे’ मनाने का अलग सलीका, ज्ञान साधना कॉलेज का उपक्रम

कॉलेजों में विद्यार्थियों द्वारा अलग-अलग तरीके के ‘डे’ मनाए जाते हैं। कई लोग विभिन्न प्रकार के कपड़े पहनकर इन दिनों को मनाते हैं लेकिन जरूरतमंद लोगों की मदद करने और अलग सलीके से इन दिनों को मनाने के लिए ज्ञान साधना कॉलेज ने अलग उपक्रम चलाया है, जिसका लाभ लोगों को मिल रहा है।
आपने अब तक केवल कॉलेजों में अलग- अलग तरीके से ‘डे’ मनाते हुए छात्रों को देखा होगा, जिसमें विद्यार्थी अलग-अलग वेश-भूषा में कॉलेज में आकर आनंद लेते हैं। ठाणे शहर के ज्ञान साधना कॉलेज के विद्यार्थियों द्वारा कुछ अलग तरीके से इन दिनों को मनाया जाता है। इन दिनों को वे अलग तरीके से मनाकर जरूरतमंदों की मदद करते हुए आनंद लेते हैं। ज्ञान साधना के विद्यार्थियों ने खुद का ‘डे’ बनाया है, जिसमें सोशल अवेयरनेस डे, ब्लैक एंड व्हाइट डे, ग्रीन डे, ब्लू डे, जीन्स डे और वैâप डे का समावेश है। इन दिनों को विद्यार्थी सामाजिक कार्यों को अंजाम देकर मनाते हैं। सोशल अवेयरनेस डे के दिन विद्यार्थी सामाज में जागृति लाने का काम करते हैं। लोगों को क्या करना चाहिए और क्या नहीं करना चाहिए, इसकी जानकारी देकर विद्यार्थी जनजागृति लाते हैं। उसी तरह ब्लैक एंड व्हाइट डे के दिन विद्यार्थी मूलभूत अधिकारों की जानकारी लोगों को देते हैं। जैसे आम तौर कोई भी प्यासा व्यक्ति किसी भी होटल और रेस्टोरेंट में जाकर पानी पीकर अपनी प्यास बुझा सकता है। उसी प्रकार ग्रीन डे के दिन प्लास्टिक बंदी को समर्थन देकर कपड़ों की थैलियों को बांटना, ब्लू डे के दिन नागरिकों को पानी का संभालकर इस्तेमाल करना, जीन्स डे के दिन पुराने कपड़े इकठ्ठा कर जरूरतमंदों में बांटना और वैâप डे के दिन सामाजिक घटनाओं के लिए रैली निकालना, इस प्रकार विद्यार्थी इन दिनों को मनाते हैं। ज्ञान साधना कॉलेज की प्रिंसिपल रूपाली मांडलिक ने बताया कि सभी कॉलेज अलग तरीके से इन दिनों को मनाते हैं लेकिन कुछ नया करने और लोगों की मदद करने के लिए हमारे कॉलेज में इस प्रकार दिनों को मनाया जाता है।