मदरसे में बच्ची का विनयभंग, मौलवी सलाखों के पीछे

कुर्ला-पूर्व स्थित कसाईवाडा इलाके के एक मदरसे में मासूम बच्ची का विनयभंग किया गया। पुलिस ने इस मामले में मदरसे में बच्ची को पढ़ानेवाले मौलवी को पोक्सो एक्ट के तहत गिरफ्तार कर उसे सलाखों के पीछे डाल दिया। मौलवी की इस घिनौनी हरकत की जानकारी उस समय सामने आई, जब मासूम बच्ची मदरसे में जाने से कतराने लगी।
बता दें कि कसाईवाड़ा स्थित हुसैनी गार्डन के समीप हबीब वारसी मंजिल में एक मदरसा है। उसी इलाके के पड़ोस में रहनेवाली एक १३ वर्षीय बच्ची मदरसे में इस्लामी शिक्षा हासिल करने के लिए जाती थी। इस मदरसे में कार्यरत मौलवी मोहम्मद अब्दुल्लाह जकीउल्लाह कुरैशी बच्चों को पढ़ाता था। बच्ची के परिजनों द्वारा पुलिस को दी गई शिकायत के मुताबिक मौलवी बच्ची का विनयभंग करता था। इतना ही नहीं अपनी अश्लील हरकतों की जानकारी बच्ची अपने परिजनों को न बताए इसलिए उसे धमकाता भी था। बताया जाता है कि बच्ची के पिता का एक माह पहले ही देहांत हो चुका है। बच्ची की मां इस दुख से बाहर भी नहीं निकल पाई कि बच्ची के विनयभंग से उसे दोहरा झटका लगा है। मौलवी के इस अश्लील हरकत का राज का उस समय पर्दाफाश हुआ, जब बच्ची पढ़ने के लिए मदरसा जाने से मना करने लगी। परिजनों ने जब मदरसा जाने के लिए बच्ची पर दबाव बनाया तो बच्ची ने अपने साथ हो रहे अत्याचार की कहानी परिजनों के समक्ष बयां की। इसके बाद परिजनों व पड़ोसियों ने मदरसे पर जमकर हंगामा किया और मौलवी का घेराव किया। इसकी सूचना चुनाभट्टी पुलिस स्टेशन को मिली। पुलिस ने मौके पर पहुंचकर मौलवी को भादंवि की धारा ३५४, ५०६ और पोक्सो एक्ट ८,१२ के तहत गिरफ्तार कर लिया।