" /> मदरसे में मिले 21 बच्चे, मौलवी और खाना बनानेवाली

मदरसे में मिले 21 बच्चे, मौलवी और खाना बनानेवाली

लॉकडाउन के दौरान भरतपुरगेट क्षेत्र स्थित एक मदरसे में 21 बालकों के रहने की सूचना पर पुलिस और स्वास्थ्य विभाग की टीम मदरसे पहुंच गई। वहां से उन्हें निकालकर चिकित्सकों की टीम द्वारा सभी की थर्मल स्क्रीनिंग कराई गई। लॉकडाउन के दौरान पुलिस प्रशासन लगातार संदिग्धों पर नजर रखे हुए है। इस दौरान पुलिस लोगों से घरों में रहने के साथ ही सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करने की अपील कर रही है। गुरुवार को कोतवाली प्रभारी अवधेश प्रताप सिंह पुलिस बल के साथ बाजार में मंडी, मेडिकल, परचून, डेयरी आदि की दुकानों पर खरीदारी करने के लिए आनेवालों को सोशल डिस्टेंसिंग का पालन कराने में जुटे थे, तभी सूचना मिली कि भरतपुरगेट क्षेत्र में कल्लू-मल्लू कारखाने के सामने गली में जेबा मस्जिद के समीप मदरसे में काफी बालक रह रहे हैं। इससे सोशल डिस्टेंसिंग का खतरा होने की आशंका है। सूचना मिलने पर सीओ सिटी आलोक दुबे, कोतवाली प्रभारी निरीक्षक अवधेश प्रताप सिंह ने स्वास्थय विभाग की टीम को बुलाया और मौके पर पहुंच गए। वहां पहुंचते ही मदरसा संचालकों में खलबली मच गई। पुलिस ने चिकित्सकों की टीम के माध्यम से मदरसे में रहनेवाले 21 बालकों के अलावा मौलवी, खाना बनानेवाली महिला का थर्मल स्क्रीनिंग परीक्षण कराया। कोतवाली प्रभारी ने बताया कि मदरसे में 21 बालक, मौलवी व खाना बनानेवाली महिला का परीक्षण कराया गया है।