" /> मनपा में शिवसेना नं.१ होनी ही चाहिए -अजीत दादा पवार

मनपा में शिवसेना नं.१ होनी ही चाहिए -अजीत दादा पवार

मुंबई मनपा में शिवसेना पहले नंबर पर है और वो रहनी ही चाहिए। परंतु राकांपा दूसरे नंबर पर रहे, इसका प्रयत्न करना चाहिए, ऐसा उपमुख्यमंत्री अजीत पवार ने कहा। महाविकास आघाड़ी के कार्यकर्ता आपस में संघर्ष न करते हुए पार्टी का काम वैâसे बढ़ेगा, इस पर ध्यान दें। तुम अच्छा करोगे तो तुम्हारा भी अच्छा होगा, ऐसी सलाह अजीत पवार ने कार्यकर्ताओं को दी। उन्होंने कहा कि अपने विचारों की सरकार आई है, तो अपने विचारों की महापालिका भी आनी चाहिए, ऐसा आह्वान अजीत पवार ने कार्यकर्ताओं से किया। मुंबई मनपा का चुनाव महाविकास आघाड़ी मिलकर लड़ेगी। मुंबई में राकांपा कार्यकर्ता शिविर का उद्घाटन कल उपमुख्यमंत्री अजीत दादा पवार के हाथों किया गया। इस मौके पर अजीत पवार बोल रहे थे।
कार्यकर्ताओं को संबोधित करते हुए उपमुख्यमंत्री ने कहा, ‘ये दीवार टूटती क्यों नहीं’ ये महाविकास आघाड़ी की दीवार टूटेगी वैâसे, क्योंकि ये अंबुजा… एसीसी… बिरला सीमेंट से बनी है।
ऐसे शब्दों में महाविकास आघाड़ी को गिराने का प्रयत्न करनेवाली भाजपा पर राकांपा नेता ने तंज कसा। अजीत पवार ने कहा कि आघाड़ी सरकार को गिराने के लिए आस लगाए विपक्ष को ये बोलने की नौबत आएगी कि ये दीवार क्यों नहीं टूट रही है? यानी शिवसेना-राकांपा-कांग्रेस की महाविकास आघाड़ी की सरकार गिर क्यों नहीं रही है? मुंबई ये महाराष्ट्र की अस्मिता है। इस अस्मिता को धक्का लगाने का काम भाजपा ने पांच वर्ष किया है। परियोजनाएं बाहर गर्इं, विकास का काम रुक गया है। विकास के काम में आड़े आनेवाले लोगों को पछाड़कर आगे जाना है, ऐसा इशारा देते हुए मुंबई मनपा चुनाव का शंखनाद अजीत दादा पवार ने किया। महाविकास आघाड़ी की सरकार जनता की समस्याओं को दूर करने का प्रयत्न कर रही है। दो महीने के अंदर मराठी भाषा को अनिवार्य करने का कानून लाया, शिवभोजन थाली योजना शुरू की है, ऐसा अजीत पवार ने कहा।