मनपा ढ़ूंढेगी रक्तचाप और डायबिटीज के मरीज, मुंबई में ३०० कैंप

मुंबई की भागदौड़ भरी जिंदगी और अनियमित जीवनशैली का असर मुंबईकरों के स्वास्थ्य पर पड़ रहा है। हृदय विकार, डायबिटीज जैसे रोग का प्रमाण बढ़ता जा रहा है। चिंता का विषय यह है कि लगभग २५ से ३० प्रतिशत लोगों को यह पता नहीं होता कि उन्हें उक्त स्वास्थ्य समस्या है। ऐसे में अब मनपा के स्वास्थ्य विभाग ने मुंबई के विभिन्न क्षेत्रों में ३०० कैंप लगा कर रक्तचाप और डायबिटीज से ग्रसित रोगियों को ढ़ूंढेगी व इलाज करेगी।
बता दें कि मुंबईकर सुस्त जीवनशैली, तनाव, बाहर के खान-पान और पैसे कमाने के चक्कर में इतने मशगूल हो गए कि वे अपने स्वास्थ्य समस्याओं को भी जाने-अनजाने नजरअंदाज कर रहे हैं। नतीजतन लोगों में उच्च रक्तचाप और डायबिटीज का प्रमाण बढ़ता जा रहा है। उक्त स्वास्थ्य समस्याओं से निपटने के लिए और रोगियों तक पहुंचने के लिए मनपा के स्वास्थ्य विभाग ने एक्शन प्लान तैयार किया है। मनपा उप कार्यकारी स्वास्थ्य अधिकारी डॉ. संतोष रेवनकर ने बताया कि हम मुंबई में ३०० मेडिकल वैंâप लगाएंगे। इस मेडिकल वैंâप में मुंबईकरों का रक्तचाप और शुगर जांचा जाएगा। हाल ही में पायलट प्रोजेक्ट के तौर पर ३ से ४ वैंâप लिए गए थे, इसमें यह बात पता चली कि २५ से ३० फीसदी लोग इस बात से अनजान थे कि उन्हें शुगर और डायबिटीज है। यदि समय पर इन रोगियों की पहचान कर इनका इलाज नहीं किया गया तो उक्त व्यक्ति आगे चलकर हार्ट अटैक, ब्रेन हेमरेज व अन्य घातक बीमारियों का शिकार बन सकते हैं। इस वैंâप के जरिए हम मुंबईकरों तक पहुंचेंगे और फिर जांच में यदि उक्त स्वास्थ्य समस्याओं की पुष्टि होती है तो उनका तुरंत उपचार शुरू किया जाएगा।