मन में है पीएम बनने का सपना!, पवार कर रहे हैं नेताओं से बात

आंध्र प्रदेश के मुख्यमंत्री चंद्राबाबू नायडू भले ही स्थानीय पार्टियों से बात कर रहे हों, परंतु लीक से हटकर उन नेताओं से शरद पवार बात कर रहे हैं, जिनसे चंद्राबाबू की बात नहीं हुई है। राकांपा अध्यक्ष शरद पवार को पूरी उम्मीद है कि त्रिशंकु सरकार आएगी। इस स्थिति में ममता, माया, राहुल आदि का नाम भले ही प्रधानमंत्री पद के लिए आया हो परंतु इनके नामों पर सहमति महाआघाड़ी में नहीं बन सकती है। इस स्थिति में प्रधानमंत्री बनने का मौका शरद पवार को मिल सकता है। यही कारण है कि ओडिशा के मुख्यमंत्री नवीन पटनायक, तेलंगाना के मुख्यमंत्री के. चंद्रशेखर राव और आंध्र के जगन रेड्डी से बात करने का प्रयत्न पवार ने किया। नवीन पटनायक से बात हुई पर जगन रेड्डी ने फोन नहीं उठाया। पवार प्रधानमंत्री बनने की जोड़-तोड़ में लगे हैं। भले ही पवार यह कहते हैं कि राकांपा के पास इतने सांसद नहीं आएंगे कि वे प्रधानमंत्री पद की बात करें पर इन बातों में कोई सत्यता नहीं है। पवार की दिली इच्छा है कि पीएम बनने का मौका उन्हें मिल जाए।

देश में होगी त्रिशंकु सरकार!
राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी स्थापना से लेकर अब तक जितने लोकसभा चुनाव हुए हैं, उन सभी चुनावों से अधिक सीट इस लोकसभा चुनाव में राकांपा पाएगी। यह दावा राकांपा प्रवक्ता नवाब मलिक ने किया है। महाराष्ट्र में कांग्रेस-राकांपा को कुल २२ सीटें मिलेंगी, ऐसा विश्वास भी मलिक ने व्यक्त किया है। एग्जिट पोल ठीक है, सभी अपने-अपने मत रख रहे हैं परंतु देश में त्रिशंकु सरकार होगी, ऐसा पूरा विश्वास है। एनडीए को पूर्ण बहुमत नहीं मिलेगा, यह बात बार-बार राकांपा कह रही है। देश में लोकतंत्र पर लोगों का विश्वास रहे इसलिए जनता के मन में ईवीएम को लेकर जो भी शंका हो, उसे चुनाव आयोग को दूर करना चाहिए ताकि लोगों का चुनाव आयोग पर विश्वास बना रहे, ऐसा मलिक ने कहा।