" /> मशक्कत बहुत झेली!

मशक्कत बहुत झेली!

सुशांत सिंह राजपूत के निधन के बाद बॉलीवुड में नेपोटिज्म को लेकर जमकर हंगामा मच रहा है। करण जौहर लगातार सोशल मीडिया पर निशाने पर हैं, और अब आयुष्मान खुराना की किताब ‘क्रैकिंग द कोडः द जर्नी इन बॉलीवुड’ का एक अंश सोशल मीडिया पर खूब वायरल हो रहा है। आयुष्मान खुराना की किताब के इस अंश में बताया गया है कि कैसे फिल्म निर्माता करण जौहर ने उन्हें २००७ में रिजेक्ट कर दिया था। सुशांत सिंह राजपूत के निधन के बाद से तो नेपोटिज्म को लेकर सोशल मीडिया पर जमकर रिएक्शन आ रहे हैं। आयुष्मान खुराना ने अपनी किताब में याद किया है कि रेडियो जॉकी के तौर पर उन्होंने करण जौहर का इंटरव्यू लिया था। २००७ में एक अवार्ड शो के दौरान, आयुष्मान खुराना ने करण से उनका नंबर मागा था और बताया था कि वह एक्टर बनना चाहते हैं। आयुष्मान खुराना ने बताया है, ‘जब मैं करण से मिला तो उन्होंने मुझे अपने लैंडलाइन नंबर दिया। मुझे वहीं से माजरा समझ जाना चाहिए था। लेकिन मैं बहुत उत्साहित था। मैंने प्लान बनाया कि मुझे किस समय कॉल करना हैः सुबह साढ़े ११ बजे। उस समय वह ब्रेकफास्ट कर चुके होंगे और बात के लिए मौजूद होंगे। अगले दिन मैंने वह नंबर डायल किया जो उन्होंने मुझे दिया था। उन्होंने कहा कि करण ऑफिस में नहीं हैं। अगले दिन मैंने फिर कॉल किया। उन्होंने कहा कि वह व्यस्त हैं। और आखिर में मेरा बुलबुला फूट गया, जब अगले ही दिन उन्होंने बहुत ही तीखे अंदाज में कहा, ‘हम सिर्फ स्टार्स के साथ काम करते हैं, और आप के साथ काम नहीं कर सकते हैं।’ यही नहीं, वह २०१८ में करण जौहर के शो ‘कॉफी विद करण’ में शिरकत भी कर चुके हैं।