महंगाई उड़ाए धज्जियां, सिमटने लगी सब्जियां, होटलवालों ने की थाली से कटोरियां गायब

बेमौसम बरसात की सबसे ज्यादा मार सब्जियों पर पड़ी है। इससे आम आदमी के किचन का बजट तो बिगड़ ही गया है, अब होटलों में मिलनेवाली थालियों की भी इस महंगाई ने धज्जियां उड़ा दी हैं। होटलों की थालियों में सब्जियां सिमटने लगी हैं। सभी सब्जियों के दाम ` ८०, १०० और इससे भी ज्यादा हो चुके हैं। अब अगर होटलवालों ने थाली के भाव बढ़ाए तो इसका असर उनके व्यवसाय पर पड़ेगा। इसलिए उन्होंने थाली से सब्जी की कटोरियां ही गायब करनी शुरू कर दी हैं।
बता दें कि इस वर्ष बेमौसम बरसात की वजह से धान की फसल सहित सब्जियों की फसल का भी भारी नुकसान हुआ है। इसी नुकसान की वजह से हरी सब्जियों के दाम काफी बढ़ गए हैं। हरी सब्जियों के दाम में पिछले सप्ताह की तुलना में इस सप्ताह ५ से ६ गुना वृद्धि हुई है। प्याज ने ८० रुपए किलो का आंकड़ा छूकर आम जनता को तो रुलाया ही था कि अब सब्जियों के बढ़ते दाम भी अब आम जनता को रुला रहे हैं। इस बढ़ते दाम का सबसे अधिक असर भोजन केंद्रों, उपहार गृहों व होटलों पर पड़ा है। उनका कहना है कि लोगों को कम दाम में बेहतर भोजन उपलब्ध कराने का कार्य हम करते हैं लेकिन सब्जियों के बढ़ते दाम की वजह से हमारे जैसे अनेक केंद्रों को नुकसान उठाना पड़ रहा है इसलिए हमने थालियों से सब्जियों को निकालने का निर्णय लिया है। ठाणे के साई आदर्श उपहार गृह के रोहिदास ठाकुर ने बताया कि पिछले कई दिनों से हरी सब्जियों के दाम में भारी वृद्धि देखी गई है, जिससे हम पिछले कई दिनों से अपने भोजन की थालियों में सब्जियों को नहीं रख रहे हैं। इसी तरह इंडियन हॉटेल एंड रेस्टोंरेट एसोसिएशन (आहार) के अध्यक्ष संतोष शेट्टी ने बताया कि हरी सब्जियों के बढ़ रहे दामों के घटने का इंतजार हम कर रहे हैं। यदि सब्जियों के दाम में कमी नहीं आई तो हमें मजबूरन भोजन के दाम में वृद्धि करनी पड़ेगी।