महागठबंधन की सीटों का बंटवारा हुआ तय

कांग्रेस-राकांपा और मित्रदलों से बना महागठबंधन की सीटों का बंटवारा आखिरकार कल तय हो गया। कांग्रेस-२४, राकांपा-२० और मित्रदल-४ सीटों पर लोकसभा चुनाव लड़ेंगे। सीटों के बंटवारे की घोषणा कल हुई एक संयुक्त पत्रकार परिषद में की गई।
स्वाभिमानी शेतकरी संगठन, बहुजन विकास आघाड़ी, शेकाप, आरपीआई (कवाड़े और गवई गुट) के साथ महागठबंधन की निर्णायक बैठक कल हुई। इसके बाद कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष अशोक चव्हाण और राष्ट्रवादी के प्रदेश अध्यक्ष जयंत पाटील ने कल पत्रकार परिषद में सीटों के बंटवारे की घोषणा की। पालघर लोकसभा निर्वाचन क्षेत्र की सीट बहुजन विकास आघाड़ी के खाते में आई है, जबकि एक सीट राजू शेट्टी के स्वाभिमान शेतकरी संगठन के लिए छोड़ी गई है। इसी तरह एक सीट रवि राणा के युवा स्वाभिमान पार्टी को दी गई है। सांगली सीट के संदर्भ में स्थानीय लोगों को विश्वास में लेकर निर्णय लिया जाएगा। कांग्रेस की शेष सीटों के बारे में अंतिम निर्णय पार्टी अध्यक्ष राहुल गांधी लेंगे। कल संयुक्त पत्रकार परिषद में विधानसभा के विपक्षी नेता राधाकृष्ण विखे पाटील अनुपस्थित थे।
रिपब्लिकन जनशक्ति शिवसेना के साथ
लोकसभा चुनाव में रिपब्लिकन जनशक्ति शिवसेना के साथ रहेगी। प्रसिद्ध दलित
साहित्यकार अर्जुन डांगले ने उक्त बात स्पष्ट की है। डांगले ने बताया कि पिछले वर्ष संविधान परिवार की ओर से निकाली गई संविधान यात्रा के दौरान अशोक चव्हाण से प्रासंगिक चर्चा हुई थी लेकिन विधानसभा चुनाव के संदर्भ में कांग्रेस ने हमारे साथ कभी भी कोई चर्चा नहीं की।