मांसाहेब की भूमिका मेरे लिए सम्मान-अमृता राव

हर कलाकार अपने हर किरदार से कुछ न कुछ सीखता है। ‘ठाकरे’ फिल्म में मांसाहेब सौ. मीनाताई ठाकरे की भूमिका मिलना मेरे लिए सम्मान है, ऐसी भावना अभिनेत्री अमृता राव ने ‘ठाकरे’ फिल्म को लेकर दिए गए साक्षात्कार में व्यक्त की।
हिंदूहृदयसम्राट शिवसेनाप्रमुख श्री बालासाहेब ठाकरे की जीवनी पर आधारित फिल्म ‘ठाकरे’ २५ जनवरी को प्रदर्शित होगी। इस फिल्म में अमृता राव मांसाहेब की भूमिका निभा रही हैं। मांसाहेब की भूमिका निभाना मेरे लिए एक चुनौती थी, ऐसा अमृता का कहना है। मांसाहेब की तस्वीरें या वीडियो ज्यादा उपलब्ध नहीं थे। बालासाहेब की छोटी बहन संजीवनी करंदीकर से उन्हें मांसाहेब के बारे में जानकारी मिली। जिससे वो यह भूमिका निभा पार्इं, ऐसा अमृता ने बताया। मांसाहेब की भूमिका के बारे में बताते हुए अमृता ने कहा कि शिवसेनाप्रमुख बालासाहेब ठाकरे की पत्नी होने के बावजूद मीनाताई प्रचार से हमेशा दूर रहती थीं। आदर्श मां, पत्नी और बहू के रूप में जिम्मेदारी उन्होंने बखूबी निभाई। मातोश्री में मदद के लिए आनेवाले हर शख्स से चाहे वह छोटा हो या बड़ा, मांसाहेब अपनेपन से पेश आती थीं और उनकी मेहमाननवाजी करती थीं, ऐसा मैंने कई लोगों से सुना है। मेरे लिए यह सिर्फ भूमिका नहीं बल्कि सम्मान है, ऐसा भी अमृता राव ने कहा। नवाजुद्दीन के साथ-साथ अमृता के भूमिका की भी सराहना हो रही है। ट्रेलर लांच के बाद शिवसेनापक्षप्रमुख उद्धव ठाकरे ने भी उनकी प्रशंसा की। श्रीमती रश्मि उद्धव ठाकरे ने भी मांसाहेब के साथ बिताई गई कुछ यादों को साझा किया। वह मुलाकात काफी प्रेमभरी थी, ऐसा अमृता राव ने बताया।
…और सेट पर मुझे किसी ने नहीं पहचाना!
फिल्म में अमृता २८ से ६० वर्ष की मांसाहेब की भूमिका में नजर आएंगी। ४ से ५ अलग-अलग लुक में वे फिल्म में दिखेंगी। इसके लिए प्रोस्थेटिक मेकअप की मदद ली गई है। अमृता राव ने शूटिंग के पहले दिन की यादों को ताजा करते हुए बताया कि पहले दिन जब वह सेट पर ६० वर्ष की मीनाताई के गेट-अप में पहुंचीं तब बगल में खड़े नवाजुद्दीन ने भी उन्हें नहीं पहचाना। जब उन्हें पता चला कि बगल में अमृता हैं तो वे आश्चर्यचकित रह गए।