मारा गया मन्नान वानी, एएमयू छोड़ बना था आतंकी

जम्मू-कश्मीर के कुपवाड़ा जिले में कल सुरक्षाबलों ने एक बड़े ऑपरेशन में दो आतंकियों को मार गिराया। इन दोनों में से एक आतंकी की पहचान हिजबुल मुजाहिदीन के कमांडर मन्नान वानी के तौर पर हुई है। मन्नान वानी अलीगढ़ मुस्लिम यूनिवर्सिटी (एएमयू) का पूर्व छात्र था। वानी इसी साल एएमयू से लापता हुआ था। बाद में खबर आई कि वह आतंकी संगठन हिजबुल मुजाहिदीन में शामिल हो गया था। एएमयू ने मन्नान वानी को निष्कासित कर दिया था।
सूत्रों के मुताबिक हंदवाड़ा के शाटगुंड इलाके में सेना की राष्ट्रीय राइफल्स, पुलिस और सीआरपीएफ के एक संयुक्त ऑपरेशन में हिजबुल मुजाहिदीन के दो आतंकियों को मार गिराया गया। बताया जा रहा है कि मुन्नान वानी के लिए टेलिग्राम चैनल पर एक संदेश भी जारी हुआ है कि डॉक्टर वानी को शहादत मिली। अल्लाह उन्हें जन्नत में जगह दें। मन्नान वानी ने इस साल की शुरुआत में अलीगढ़ मुस्लिम विश्वविद्यालय का पीएचडी कोर्स छोड़कर हिजबुल मुजाहिदीन का हाथ थाम लिया था। हिजबुल ने उसे कुपवाड़ा का कमांडर बनाया गया था। मन्नान के हिजबुल जॉइन करने के बाद से ही सुरक्षा एजेंसियों को उसकी तलाश थी। वहीं पिछले दिनों सेना द्वारा जारी मोस्ट वॉन्टेड टेररिस्ट की सूची में मन्नान का भी नाम शामिल किया था।