मार्शल आर्ट के पाले में पहलवान रितु

ये एक दिलचस्प खबर है कि कोई पहलवान अपना पाला बदलकर दूसरे खेल में हाथ आजमाए। जी हां, राष्ट्रमंडल कुश्ती चैंपियनशिप की स्वर्ण पदक विजेता देश की महिला पहलवान रितु फोगाट कुश्ती के अखाड़े में ताल ठोकने के बाद अब मिक्स मार्शल आर्ट्स (एमएमए) में उतरने जा रही हैं और इस खेल में भी उनका लक्ष्य विश्व चैंपियन बनकर हिंदुस्थान को मजबूत पहचान दिलाना है। लोकप्रिय फोगाट बहनों में से एक रितु अब मेक वन चैंपियनशिप से एमएमए की शुरुआत करेंगी। पेशेवर एमएमए में उनका पहला मुकाबला बीजिंग में १६ नवंबर को होगा। वह वन चैंपियनशिप की ‘ऐज
ऑफ ड्रैगन’ प्रतिस्पर्धा में भाग लेंगी। २४ साल की रितु ने मार्शल आर्ट्स संगठन वन चैंपियनशिप से करार किया है। मैच से पहले रितु ने कहा कि वह एमएमए में विश्व चैंपियन का तमगा हासिल करनेवाली हिंदुस्थान की पहली खिलाड़ी बनना चाहती हैं। रितु ने कहा, ‘मैं शुरू से ही कुछ अलग करना चाहती थी और शुरू से ही मिक्स मार्शल आर्ट्स देख रही थी। मैं हमेशा सोचती थी कि एमएमए में हिंदुस्थान से कोई विश्व चैंपियन क्यों नहीं है? और यही वजह थी, जो मुझे एमएमए में लेकर आई।’ रितु ने नवंबर २०१७ में सिंगापुर में हुई अंडर-२३ कुश्ती चैंपियनशिप के ४८ किलोग्राम भारवर्ग में रजत पदक जीता था।’