माल्या के गले पड़ी प्रत्यर्पण की माला, ब्रिटिश कोर्ट ने दिया झटका

हिंदुस्थानी बैंकों के साथ धोखाधड़ी कर भागे शराब कारोबारी विजय माल्या को लंदन कोर्ट से बड़ा झटका लगा है। कल सुनवाई के दौरान कोर्ट ने माल्या के गले में हिंदुस्थान प्रत्यर्पण करने की माला पहना दी। बता दें कि अगस्टा वेस्टलैंड केस में कथित बिचौलिए क्रिश्चियन मिशेल को प्रत्यर्पित कर हिंदुस्थान लाने के बाद सरकार के लिए यह दूसरी अच्छी खबर आई है।
लंदन की वेस्टमिंस्टर कोर्ट में जज एम्मा अर्बथनॉट ने यह पैâसला सुनाया। सीबीआई ने कोर्ट के पैâसले का स्वागत किया है। अब माल्या के प्रत्यर्पण का होम अफेयर्स साजिद जाविद के पास भेज दिया गया है। किंगफिशर एयरलाइंस के प्रमुख रहे ६२ वर्षीय माल्या पर करीब ९,००० करोड़ रुपए की धोखाधड़ी और मनी लॉन्ड्रिंग का आरोप है। पिछले साल अप्रैल में प्रत्यर्पण वॉरंट पर गिरफ्तारी के बाद से माल्या जमानत पर है। बता दें कि जज को यह पैâसला सुनाना था कि क्या माल्या का हिंदुस्थान प्रत्यर्पण किया जाना चाहिए और उनके खिलाफ सीबीआई और प्रवर्तन निदेशालय द्वारा लगाए गए आरोपों पर मुकदमा चलना चाहिए।
पैâसला आने के बाद मामले को ब्रिटेन के गृह विभाग के पास भेज दिया गया है और अब देश के गृह मंत्री को इस पर पैâसला लेना है। गौर करनेवाली बात यह है कि माल्या १४ दिन के भीतर इस पैâसले को ब्रिटिश उच्च न्यायालय में चुनौती भी दे सकता है।