माल्या के प्रत्यर्पण में भारत की विजय, आर्थर रोड जेल की बैरक तैयार

शराब कारोबारी विजय माल्या का प्रत्यर्पण के तहत भारत को सौंपने के मामले में ब्रिटेन की अदालत ने फैसला सुना दिया है। कर्ज धोखाधड़ी के मामलों में लंदन की वेस्टमिंस्टर मजिस्ट्रेट कोर्ट ने माल्या के भारत प्रत्यर्पण को मंजूरी दे दी है। विजय माल्या के भारत में प्रत्यर्पण का मामला राज्य सचिव को भेजा गया है। सीबीआई ने इस फैसले का स्वागत किया है। सीबीआई के प्रवक्ता ने इस पर कहा कि हम उसे (माल्या को) जल्द भारत लाने की और मामले को निष्कर्ष तक पहुंचाने की उम्मीद कर रहे हैं। उन्होंने कहा कि हमने इस केस पर काफी मेहनत की है। हम तथ्य व कानून दोनों पक्षों में मजबूत हैं, इसीलिए प्रत्यर्पण प्रक्रिया का पालन करते समय हम विश्वस्त थे।

माल्या के लिए तैयार है आर्थर रोड जेल का बैरक

एक तरफ जहां लंदन में भगोड़े शराब कारोबारी विजय माल्या के हिंदुस्थान प्रत्यर्पण पर सुनवाई का दिन है, वहीं दूसरी तरफ मुंबई में माल्या को जेल में रखने की तैयारी भी चल रही है। बैंक से हजारों करोड़ का कर्ज लेकर देश छोड़ने वाले विजय माल्या को जब हिंदुस्थान लाया जाएगा तो उसे मुंबई की आर्थर रोड जेल में रखा जाएगा, जहां हाई सिक्योरिटी वाला बैरक तैयार किया गया है। उच्च सुरक्षा वाली बैरक अन्य कोठरियों से अलग हैं। इनमें लगातार सीसीटीवी की निगरानी होती है और अत्याधुनिक हथियारों के साथ सुरक्षाकर्मी तैनात रहते हैं। केंद्रीय गृह मंत्रालय के एक अधिकारी ने पहले कहा था कि मुंबई की आर्थर रोड जेल दुनिया के सर्वश्रेष्ठ कारावासों में से एक है।