मासूमों का सीरियल रेपिस्ट नहीं है रेहान! एडवोकेट का दावा

नई मुंबई पुलिस द्वारा गिरफ्तार किए गए सीरियल रेपिस्ट रेहान कुरैशी के मामले में अब एक नया खुलासा हुआ है। यह खुलासा रेहान कुरैशी के वकील ने किया है। इस खुलासे ने रेहान कुरैशी के सीरियल रेपिस्ट होने के पुलिस के दावा की पोल खोल दी है। यह पोल सीसीटीवी फुटेज के आधार पर खोली है। सीसीटीवी फुटेज में दिखा व्यक्ति और रेहान दोनों व्यक्ति अलग होने का दावा किया गया है।
बता दें कि नई मुंबई पुलिस ने गत माह मीरा रोड से रेहान कुरैशी को गिरफ्तार किया था। नई मुंबई पुलिस ने रेहान को मासूमों का सीरियल रेपिस्ट बताया है। अब तक २१ मासूमों को अपनी हवस का शिकार रेहान द्वारा बनाने का दावा नई मुंबई पुलिस ने किया है। पुलिस के इस दावे को रेहान के वकील एडवोकेट आदिल खत्री ने झूठा करार दिया है। आदिल खत्री का आरोप है कि जिस सीसीटीवी फुटेज के आधार पर रेहान को गिरफ्तार किया गया है वह अलग व्यक्ति का है। इतना ही नहीं रेहान के संदर्भ में पुलिस ने अब तक जो भी दावे किए हैं, उसका कोई भी दस्तावेज पुलिस ने कोर्ट में पेश नहीं किया है। इतना ही नहीं रेहान के मामले में आरोपियों को मिलनेवाले अधिकारों का भी उल्लंघन पुलिस द्वारा किए जाने का आरोप खत्री ने लगाया है। रेहान को न ही उसके परिजनों से मिलने दिया जा रहा है और न ही वकील से। खत्री ने पुलिस द्वारा किए जा रहे अधिकारों के हनन के बारे में सत्र न्यायालय को अवगत कराया है। इसके लिए खत्री ने सुप्रीम कोर्ट में डीके बासु मामले में दिए गए निर्णय का हवाला दिया है।