" /> माहुलवासियों की हैप्पी होली, आदित्य ठाकरे के हाथों चाभियों का वितरण

माहुलवासियों की हैप्पी होली, आदित्य ठाकरे के हाथों चाभियों का वितरण

जानलेवा प्रदूषण से मिली निजात
पहले चरण में २०६ लोगों को मिले घर
प्रदूषण की मार झेल रहे माहुलवासियों को आखिरकार निजात मिली है। पर्यावरण मंत्री आदित्य ठाकरे के हाथों परियोजना प्रभावित माहुलवासियों को गोराई स्थित बनाए गए घरों की चाभियां वितरित की गर्इं। `मातोश्री’ निवास स्थान में यह कार्यक्रम संपन्न हुआ। इस योजना के तहत पहले चरण में कुल २०६ परियोजना प्रभावित लोगों को घर उपलब्ध करवाए गए।

मुंबई में सड़क और नालों के चौड़ीकरण, तानसा पाइपलाइन पर मौजूद झोपड़पट्टियों को हटाने का कार्य मुंबई मनपा द्वारा शुरू है। इन कार्यों के दौरान झोपड़पट्टियों में रहनेवाले कई परिवार प्रभावित हुए हैं। उन प्रभावित परिवारों का पुनर्वसन मुंबई मनपा द्वारा चेंबूर स्थित माहुल परिसर में किया गया था। अब तक माहुल परिसर में कुल ५ हजार परिवारों का पुनर्वसन किया जा चुका है लेकिन चेंबूर में कई रिफायनरी परियोजनाओं के चलते उक्त परिसर लोगों के लिए खतरनाक साबित हो रहा है। वहां रहनेवाले अनेक परिवारों को त्वचा संबंधित बीमारी, टीबी और वैंâसर जैसी बीमारियों से जूझना पड़ रहा था। इसी प्रदूषण के चलते कई परियोजना प्रभावितों की मृत्यु का मामला भी सामने आ चुका है। इसके बाद परियोजना प्रभावितों को न्यायालय का दरवाजा खटखटाना पड़ा था। मामले की सुनवाई के दौरान न्यायालय ने इन प्रभावितों को किसी अन्य जगह पर घर देने या किसी और जगह रहने के लिए प्रतिमाह १५ हजार रुपए देने का आदेश दिया था। जिसके बाद शिवसेना के प्रयत्नों और म्हाडा के माध्यम से परियोजना प्रभावितों का सुरक्षित जगह पर पुनर्वसन किया गया।
शिवसेना की वचनपूर्ति
माहुलवासियों को सुरक्षित जगह पर घर दिया जाए इसलिए परियोजना प्रभावित आजाद मैदान में आंदोलन कर रहे थे। उस दौरान शिवसेना ने वचन देते हुए कहा था कि जल्द ही परियोजना प्रभावितों को घर दिया जाएगा। इस प्रकार से घर दिलवाकर शिवसेना ने वचनपूर्ति की है।