" /> मिल स्टोरों को भी दो खोलने की इजाजत : मिल स्टोर मर्चेंट्स एंड मैन्युफैक्चरिंग एसोसिएशन की मनपा से मांग

मिल स्टोरों को भी दो खोलने की इजाजत : मिल स्टोर मर्चेंट्स एंड मैन्युफैक्चरिंग एसोसिएशन की मनपा से मांग

पावरलूम की तरह ही मिल स्टोरों को भी खोलने की इजाजत की मांग मिल स्टोर मर्चेंट्स एंड मैन्युफैक्चरिंग एसोसिएशन ने मनपा से की है क्योंकि बिना मिल स्टोर के लूम चलाना असंभव है।
भिवंडी मनपा को दिए ज्ञापन में मिल स्टोर मर्चेंट्स एंड मैन्युफैक्चरिंग एसोसिएशन ने बताया है कि प्रशासन ने पिछले 21 मई से पावरलूम उद्योग को शुरू करने की इजाजत दी है लेकिन उसमें लगनेवाले सामानों को उपलब्ध कराने के लिए मिल स्टोर्स को अभी तक कोई परमिशन नहीं दी है, जिसके कारण पावरलूम मालिक चाहकर भी पावरलूम नहीं चालू कर पा रहे हैं। मिल स्टोर मर्चेंट्स एंड मैन्युफैक्चरिंग एसोसिएशन ने ज्ञापन में कहा है कि वे प्रशासन द्वारा कोरोना को हराने के लिए जो भी जरूरी गाइडलाइंस हैं, उनका पूरा पालन करेंगे।एसोसिएशन ने मनपा प्रशासन से तत्काल मिल स्टोरों को खोलने की परमिशन की मांग ज्ञापन द्वारा की है।इधर मनपा आयुक्त डॉ. प्रवीण आष्टीकर का कहना है कि जल्द ही वे मिल स्टोर्स को भी चालू करने की परमिशन देंगे, ताकि लूम मालिकों को कारखाना चलाने में दिक्कत न हो।
मिल स्टोर बंद होने से मुसीबत में हैं लूम मालिक
पावरलूम मालिक देवशरण मिश्र ने बताया कि पावरलूम कारखाने दो महीने से बंद पड़े हैं, जिन्हें चालू करने के लिए कारखाना मालिकों को मजदूरों के अलावा सबसे पहले इलेक्ट्रिकल्स सामान, स्पेयर पार्ट्स और सटल रिपेयर की दुकानों की जरूरत हो रही है। उन्होंने बताया कि पावरलूम के टूटे-फूटे या बिगड़े हुए सामानों की मरम्मत के लिए आवश्यक दुकानों के साथ स्पेयर पार्ट्स यानी मिल स्टोर की दुकानों का खुला रहना आवश्यक है, ताकि जरूरी स्पेयर पार्ट्स खरीदकर लोग मशीनों को सुचारु रूप से चालू कर सकें लेकिन अभी तक पावरलूम उद्योग से संबंधित स्पेयर पार्ट्स यानी मिल स्टोर, सटल रिपेयरिंग, इलेक्ट्रिक की दुकानें, वायरमैन, सुतार, लेथ मशीन सहित अन्य स्पेयर पार्ट्स की दुकानों को खोलने की परमिशन नहीं दी गई है।