" /> मीरा-भायंदर में शिवसैनिकों ने किया कंगना का पुतला दहन, देशद्रोह का मामला दर्ज करने की मांग

मीरा-भायंदर में शिवसैनिकों ने किया कंगना का पुतला दहन, देशद्रोह का मामला दर्ज करने की मांग

फिल्म अभिनेत्री कंगना रानौत द्वारा मुंबई की तुलना पाकिस्तान अधिकृत कश्मीर (पीओके) से किए जाने व मुंबई पुलिस से डर लगने जैसे अशोभनीय बयान की सर्वत्र भर्त्सना की जा रही है। मुंबई के बारे में दिए गए इस निंदनीय बयान पर शिवसेना सहित सभी मुंबईकरों में आक्रोश है। उक्त बयान के विरोध में मीरा-भायंदर के शिवसैनिकों व युवासेना के कार्यकर्ताओं ने कंगना रानौत के पुतले का दहन कर निषेध प्रदर्शन किया।
शिवसेना विधायक प्रताप सरनाईक के मार्गदर्शन में कंगना रानौत का निषेध आंदोलन किया गया, जिसमें महिला जिला प्रमुख स्नेहल सावंत कल्सारिया, श्रेया सालवी, प्राची पाटील, नगरसेवक राजू भोईर, नगरसेवक विक्रम प्रताप सिंह, युवासेना शहर संगठक सलमान हाशमी तथा सैकड़ों शिवसेना महिला आघाड़ी के पदाधिकारी व शिवसैनिक मौजूद थे। कंगना के इस विवादित बयान के लिए उस पर देशद्रोह का मामला दर्ज कर उसको गिरफ्तार करने की मांग सलमान हाशमी ने की है।

मुंबई में भी प्रदर्शन
मुंबई की तुलना पीओके से करनेवाली कंगना रनौत के खिलाफ कल मुंबई में भी शिवसैनिकों ने आंदोलन किया। सायन कोलीवाड़ा विधानसभा क्षेत्र की ओर से विभागप्रमुख मंगेश सातमकर के नेतृत्व में शिवसैनिकों ने आंदोलन किया। इसी तरह विभागप्रमुख सुधाकर सुर्वे के नेतृत्व में भी शिवसैनिकों और रणरागिनियों ने कंगना के खिलाफ जोरदार प्रदर्शन किया।

मुंबई हमारी जननी है और मुंबादेवी के नाम पर इसका नामकरण हुआ है। मुंबई ने ही कंगना रानौत को इतना नाम और शोहरत दी है और सिर्फ रानौत ही नहीं, यहां अनेक कलाकारों, सेलिब्रिटीज, उद्योगपतियों और कामगारों ने सफलता व प्रसिद्धि पाई है। करोड़ों लोगों की स्वप्नपूर्ति इस मुंबई में हुई है। मुंबई की तुलना पाक अधिकृत कश्मीर से करने व मुंबई पुलिस पर संदेह करना बहुत ही निंदनीय है। कंगना को अब मुंबई में रहने का नैतिक अधिकार नहीं है। उस पर देशद्रोह का मामला दर्ज करने का निवेदन करूंगा। – प्रताप सरनाईक (शिवसेना विधायक)

कल्याण में आंदोलन
शनिवार को कल्याण में अभिनेत्री कंगना रनौत के खिलाफ शिवसैनिकों ने आंदोलन किया। इस दौरान शिवसैनिकों ने कंगना का निषेध करते हुए उसका समर्थन करनेवाले भाजपा नेताओं को कोसा और नसीहत दे डाली। इस आंदोलन में कल्याण-पूर्व के शिवसेना सहसंपर्कप्रमुख शरद पाटील, उपशहरप्रमुख हर्षवर्धन पलांडे, शांताराम डिगे, समीर वेदपाठक, मीना मालवे, संगीता गांधी, स्वाती म्हाले सहित तमाम शिवसैनिक मौजूद थे। उसी तरह शिवाजी चौक पर शिवसैनिकों ने कंगना रनौत का विरोध किया। इस दौरान शिवसेना महिला शहरप्रमुख विजयाताई पोटे के साथ तमाम शिवसैनिकों ने कंगना के खिलाफ नारेबाजी की। शिवसेना उपशहरप्रमुख हर्षवर्धन पलांडे ने कहा कि कंगना को मुंबई और मुंबई पुलिस को बदनाम करने का कोई अधिकार नहीं।