मुंबईकरों का पानी नौ पैसे हुआ महंगा

पानी आपूर्ति में होनेवाला खर्च बढ़ने से मनपा प्रशासन ने घरेलू पानी आपूर्ति की दर में नौ पैसे की वृद्धि की है जबकि कमर्शियल पानी आपूर्ति की दर में ९५ पैसे की वृद्धि की है। पानी आपूर्ति की नई दर १६ जून से लागू होगी। एक हजार लीटर के पीछे यह दर वृद्धि होगी। वर्ष २०१२ में मनपा में बहुमत से मंजूर हुए दर वृद्धि के प्रस्ताव के तहत हर वर्ष पानी दर में बदलाव किया जाता है।
बता दें कि मुंबईकरों को रोजाना मनपा ३८०० मिलियन लीटर पानी आपूर्ति करती है। सैकड़ों किलोमीटर दूर स्थित झीलों से पानी मुंबई लाया जाता है। संस्थान खर्च, प्रशासनिक खर्च, देखभाल खर्च, बिजली खर्च, सरकारी झीलों से लिए जानेवाले पानी पर कर आदि खर्चों में हर वर्ष वृद्धि होती है। इसे देखते हुए वर्ष २०१२ में मनपा प्रशासन द्वारा हर वर्ष पानी दर में ८ प्रतिशत वृद्धि करने का प्रस्ताव लाया गया था, जिसे बहुमत से मंजूर किया गया था। वर्ष २०१७-१८ में पानी आपूर्ति में मनपा प्रशासन को ८३६.६० करोड़ रुपए खर्च करना पड़ा था जो वर्ष २०१८-१९ में बढ़कर ८५७.३२ करोड़ रुपए पहुंच गया। खर्चों का आकलन करें तो पानी आपूर्ति में होनेवाले खर्च में ढाई प्रतिशत की वृद्धि हुई है। अब १६ जून से लागू होनेवाले नए पानी की दर के हिसाब से अब घरेलू जलधारकों को तीन रुपए ८२ पैसे की बजाय तीन रुपए ९१ पैसे के हिसाब से भुगतान करना होगा जबकि झोपड़पट्टी जलधारकों को ४.३३, कमर्शियल जलधारकों को ५२.२५, आलीशान होटलों को ७८.३९ और बॉटलिंग प्लांट को १०८.८९ का नया पानी दर लागू होगा।