मुंबईकरों की मांग! कुलभूषण कब आएगा?

पाकिस्तान के एफ-१६ लड़ाकू विमान को मिग-२१ से मार गिरानेवाले हिंदुस्थानी विंग कमांडर अभिनंदन वर्धमान की पाकिस्तान से सही सलामत वापसी पर पूरा देश जश्न में डूबा है। दूसरी ओर जासूसी के बेबुनियाद आरोप में पाकिस्तान की जेल में बंद दूसरे हिंदुस्थानी लाल कुलभूषण जाधव की वापसी को लेकर लोगों की उम्मीदें बढ़ गई हैं। अपनी बढ़ी हुई उम्मीदों के साथ मुंबईकर अब यह सवाल कर रहे हैं कि कुलभूषण जाधव को कब लाया जाएगा? कुलभूषण की वापसी के लिए आम  मुंबईकर सहित विभिन्न सामाजिक संस्थाएं जल्द ही सड़क से लेकर सोशल मीडिया तक मुहिम चलानेवाली हैं। कैंडल मार्च से लेकर ट्विटर, फेसबुक, पिटीशन आदि के माध्यम से कुलभूषण की वापसी कब होगी? ऐसी अपनी मांग मुंबईकर सरकार तक पहुंचाएंगे। बता दें कि जासूसी के तथाकथित आरोप में पाकिस्तान की जेल में बंद कुलभूषण जाधव का मामला फिलहाल अंतरराष्ट्रीय न्यायालय में विचाराधीन है। पाकिस्तान अपनी ज्यादतियों को छुपाते हुए कुलभूषण की रिहाई में रोड़े डालने में कोई कसर नहीं छोड़ रहा है।
इस्लामिक काउंटर टेररिज्म काउंसिल के कन्वेनर ए. आर. अंजारिया ने अभिनंदन की वापसी पर सरकार की सराहना करते हुए कहा कि अभिनंदन तो स्वदेश आ गया है लेकिन कुलभूषण कब आएगा? उन्होंने कहा कि जिस तरह से सरकार ने अभिनंदन को लाने के लिए अंतर्राष्ट्रीय दबाव बनाया, ठीक उसी तरह का दबाव बनाकर कुलभूषण को भी लाया जाए। एसएनके ट्रस्ट के नावेद सिद्दीकी ने कहा कि कुलभूषण की वापसी कब होगी? यह सवाल  सरकार से पूछने के लिए जल्द ही सोशल मीडिया पर मुहिम चलाई जाएगी। साहस फाउंडेशन के जुनैद कुरैशी ने बताया कि कुलभूषण की स्वदेश की वापसी के लिए मुहिम चलाई जाएगी। इस मुहिम के जरिए मुंबईकरों की तरफ से सरकार से सवाल पूछा जएगा कि कुलभूषण की वापसी पाकिस्तान से कब होगी?
१) भारत मर्चेंट चेंबर के ट्रस्टी राजीव सिंगल ने कहा कि इस समय पाकिस्तान दबाव में है। हिंदुस्थान चाहे तो कूटनीतिक तरीके से कुलभूषण जाधव को भी दोबारा हिंदुस्थान ला सकती है।
२) टिटवाला के रहनेवाले प्रज्वल पुजारी जो कि विद्यार्थी हैं, उन्होंने बताया कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को ट्वीट कर कुलभूषण जाधव को भी जल्द से जल्द अपने वतन पुन: लाने की मांग की है। जिस तरह अभिनंदन सर वापस आए हैं, उसी तरह कुलभूषण जाधव को भी प्रधानमंत्री द्वारा वापस लाना चाहिए।
३) रुपाली मांडलिक (शिक्षिका) ने बताया कि जिस तरह अभिनंदन जी को वापस लाने के लिए सभी प्रकार के दबाव पाकिस्तान पर डाले गए उसी प्रकार और अधिक दबाव डालकर कुलभूषण जाधव को भी पुन: वापस हिंदुस्थान लाना चाहिए।
४) वसई की रहनेवाली ममता बोरसे ने बताया कि यही सही वक्त है। अभी पाकिस्तान घबराया हुआ है। अभिनंदन सर जैसे अनेक फौजी पाकिस्तान की जेल में बंद हैं। उनके भी माता-पिता उनका इंतजार कर रहे हैं। हिंदुस्थान और भी दबाव डालकर कुलभूषण जाधव सहित अन्य वीर सैनिकों को भी छुड़ा सकता है।