मुंबई आए तो छोड़ेंगे नहीं

जम्मू अटैक के बाद आतंकियों से निपटने को तैयार है पुलिस

बालाकोट में जैश के कैंप पर हुए एयर स्ट्राइक के बाद भी पाकिस्तान समर्थित आतंकी धमाके करने से बाज नहीं आ रहे हैं। कश्मीर में तो आतंकी हमारे जवानों परे हमले कर ही रहे हैं, कल जम्मू में बस स्टैंड पर भी उन्होंने ग्रेनेड से हमला किया। इसको देखते हुए मुंबई पुलिस ने सतर्कता बढ़ा दी है। ‘आतंकी ताकतों से निपटने में मुंबई पुलिस पूरी तरह सक्षम है,’ ऐसा विश्वास मुंबई पुलिस के प्रवक्ता डीसीपी मंजूनाथ सिंगे ने ‘दोपहर का सामना’ के माध्यम से मुंबईकरों को दिलाया है। मंजूनाथ सिंगे का कहना है कि यदि आतंकी ताकतें मुंबई की ओर वक्र दृष्टि डालने की हिमाकत करेंगी तो पुलिस उन्हें छोड़ेगी नहीं।
पुलवामा हमले के बाद देशभर में अलर्ट जारी किया गया है। खासकर रेलवे स्टेशनों एवं हवाई अड्डों पर। मायानगरी मुंबई पहले भी कई बार बड़े आतंकी हमलों का शिकार बन चुकी है और देश की आर्थिक राजधानी होने के कारण आतंकी ताकतों के निशाने पर हमेशा ही रहती है इसलिए आतंकी हमलों की आशंका से मुंबईकर भी चिंतित हैं।
इस बारे में पूछे जाने पर मुंबई पुलिस के प्रवक्ता एवं पुलिस उपायुक्त मंजूनाथ सिंगे ने कहा कि मुंबई में अतीत में जो भी आतंकी घटनाएं घटी हैं, उनसे सबक सीखते हुए मुंबई पुलिस ने आतंकी हमलों को रोकने और निपटने की  मुकम्मल तैयारी कर रखी है। माहौल कोई भी हो, मुंबई पुलिस की तमाम यूनिटें अपने काम में मुस्तैदी से जुटी रहती हैं। भीड़-भाड़वाले इलाकों में संदिग्धों पर नजर रखना, लगातार गश्त, नाकाबंदी एवं छापेमारी करके पुलिस किसी भी अप्रत्याशित घटना को रोकने का प्रयास करती है। इसमें देश की खुफिया एवं अन्य जांच एजेंसियों तथा सेना-नेवी से मिलनेवाली सूचना एवं निर्देशों का भी पुलिस पूरा पालन करती है। मंजूनाथ के अनुसार जल हो या जमीन, हर जगह पुलिस एवं अन्य जांच एजेंसियां पूरी सतर्कता बरत रही हैं। मुंबई पूरी तरह सुरक्षित है। मुंबईकरों को चिंता करने की कोई आवश्यकता नहीं है।