मुंबई की महिला ने रचा इतिहास, अकेले प्लेन उड़ा पार किए दो महासागर

मुंबई उपनगर की २३ वर्षीय बेटी ने इतिहास के पन्नों में अपना नाम दर्ज करवा लिया है। दरअसल पायलट आरोही पंडित ने अटलांटिक और प्रशांत महासागर को एक साथ एक छोटे विमान को उड़ाकर पार किया है, ऐसा कारनामा करनेवाली आरोही दुनिया की पहली महिला पायलट बन गर्इं।
बता दें कि बोरीवली की निवासी आरोही पंडित ने बुधवार को यह कीर्तिमान स्थापित किया है। आरोही ने अलास्का के उनालाक्लीट शहर से प्रशांत महासागर को पार करने के लिए उड़ान भरी। उन्होंने दोनों महासागरों को पार करने के बाद रूस चुकोटका राज्य के अंनाडेर एयरपोर्ट पर सुरक्षित लैंडिंग की। जब उन्होंने विमान की लैंडिंग की उस वक्त रात के १.५४ बज रहे थे। विमान की लैंडिंग के बाद आरोही ने हिंदुस्थान का तिरंगा फहराया और अपनी खुशी जाहिर की।
इसके साथ ही आरोही पंडित अब दुनिया की पहली महिला पायलट बन गई हैं, जिन्होंने प्रशांत और अटलांटिक महासागर को एक साथ विमान उड़ाकर पार किया। उनकी पूरी यात्रा १,१०० किलोमीटर की थी। २३ साल की आरोही पंडित ने इसी साल मई के महीने में अकेली ही अंतरराष्ट्रीय तिथि रेखा पर भी उड़ान भरकर नया रिकॉर्ड बनाया था।
इस रेखा को भ्रम की रेखा के नाम से भी जाना जाता है। यहां जब तारीख बदलती है तो घड़ी की सुइयां कुछ पल के लिए थम जाती हैं। इन दिन को याद कर आरोही बताती हैं कि मैंने अपने जीवन का एक दिन खो दिया, जिसे मैं वापस कभी नहीं पा सकती। प्रशांत और अटलांटिक महासागर को क्रॉस करने के बाद आरोही ने कहा कि मैं देश की महिलाओं के लिए ये रिकॉर्ड हासिल कर गौरवान्वित महसूस कर रही हूं।