मुंबई के लिए टी-१८ से निकली टी-१२

मुंबई की लोकल ट्रेनों में समय के साथ-साथ रेलवे बदलाव ला रही है। रेलवे ने नई पीढ़ी के यात्रियों की जरूरतों और सुविधाओं को ध्यान में रखते हुए टी-१८ ट्रेन को पटरी पर ला दिया है। टी-१८ का सफल ट्रायल होने के बाद अब मुंबईकरों को नई पीढ़ी की एसी लोकल का इंतजार है। १२ डिब्बा एसी लोकल ट्रेन का निर्माण चेन्नई के आईसीएफ कोच पैâक्ट्री में हो रहा है। टी-१८ में यात्री सुविधाओं से जुड़ी जो विशेषताएं हैं, ठीक वही विशेषताएं टी-१२ यानी १२ डिब्बों की एसी लोकल में अब होगी। यानी मुंबई के लिए टी-१८ से टी-१२ एसी लोकल निकली है, यह कहना गलत नहीं होगा।
मुंबई के लिए तैयार हो रही १२ डिब्बा एसी लोकल में वे सारी विशेषताएं हैं जो टी-१८ ट्रेन में हैं, जिससें मुंबईकरों को नई एसी लोकल ट्रेन में सफर के दौरान टी-१८ ट्रेन का अनुभव मिलेगा। वर्तमान लोकल ट्रेन के मुकाबले नई एसी लोकल में १,०२८ सीट के बजाए १,११६ सीट होंगी। पूरी तरह से वातानुकूलित १२ डिब्बे की एसी लोकल में ड्राइविंग वैâब भी रहेगा।
ऑटोमेटिक दरवाजे के साथ ही एक कोच से दूसरे कोच में आसानी से जाने की सुविधा होगी। ट्रेन की स्पीड ११० किलोमीटर प्रति घंटा होगी। कोच पूरी तरह से स्टील का बना है, जिसमें स्टील के हैंडल भी लगे हुए होंगे।
नई एसी लोकल में जीपीएस के आधारित पैसेंजर इंफॉर्मेशन सिस्टम, सभी कोचों में सीसीटीवी वैâमरा, पैसेंजर टॉक बैक सिस्टम, इमरजेंसी अलार्म के साथ ही आरामदायक सीट होगी। एसी लोकल का ब्रेक लगने पर बिजली पैदा होने के साथ ही ३५ प्रतिशत बिजली की बचत भी होगी। इतना ही नहीं तो जब एसी लोकल की स्पीड बढ़ानी या फिर घटानी होगी तो कम समय लगेगा। इस साल मुंबईकरों को कुल १२ एसी लोकल की सौगात मिलेगी, जिसमें से ६ पश्चिम और ६ मध्य रेलवे के मार्ग पर चलाने की योजना है।