मुंबई टू वाराणसी@ रु. ३०,०००

छुट्टियों का सीजन शुरू होते ही लोग अपने मुलुक का रूख करते हैं। परंतु इन दिनों आप मुंबई से वाराणसी या फिर लखनऊ का हवाई सफर करने की सोच रहे हैं तो आपको यह सफर तय करने के लिए अपनी जेब ढीली करनी पड़ेगी। हवाई किराए में उछाल की वजह से वर्तमान में मुंबई टू वाराणसी का हवाई किराया ३० हजार रुपए है। विशेषज्ञों की मानें तो हवाई किराए में आए अचानक उछाल की तीन वजहें हैं। पहली वजह घाटे में चल रही जेट एयरवेज की उड़ानों का ठप पड़ना, दूसरा इथोपियन एयर लाइन का विमान बोइंग ७३७ मैक्स हादसे का शिकार होने के बाद इस सीरीज के विमानों की उड़ानों पर प्रतिबंध लगना और तीसरी वजह अप्रैल-मई का महीना होना है। सस्ती हवाई सेवा मुहैया करानेवाले हवाई जहाजों की उड़ानें न भरने से एयरलाइंस बाजार में डिमांड के मुताबिक सेवाएं नहीं मिल पा रही हैं, जिससे हवाई किराया इन दिनों व्यस्त रूट पर आसमान छू रहा है। जिससे हवाई सफर की चाह रखनेवालों में खलबली मची हुई है।
माना जाता है कि दो शहरों के लिए यदि डायरेक्ट फ्लाइट हो तो उसका किराया सबसे अधिक होता है जबकि दो शहरों के लिए वाया उड़ान भरनेवाली प्लाइट का किराया सस्ता होता है लेकिन इन दिनों वाया फ्लाइट के किराए ने भी आसमान छूना शुरू कर दिया है।
बता दें कि कल मुंबई से लखनऊ विस्तरा एयर लाइन का हवाई किराया वाया दिल्ली ३२,७६५ रुपए था जबकि एयर इंडिया का किराया वाया कोलकाता-दिल्ली ४५,५६२ रुपए और जहां तक डायरेक्ट फ्लाइट की बात है तो कल कोई उड़ान डायरेक्ट मिलना मुश्किल थी। इसी तरह इन दिनों मुंबई से वाराणसी का हवाई किराया विस्तरा एयर लाइन का वाया दिल्ली ४०,०८० रुपए, एयर इंडिया का किराया ३९,६६१ रुपए और स्पाइस जेट का किराया वाया हैदराबाद ३०,५३५ रुपए था।
राकेश राजभर मुंबई से वाराणसी का हवाई सफर करनेवाले थे। घर में शादी और काम में अधिक व्यस्त होने के कारण उन्होंने अपनी बहन की शादी में शिरकत करने के लिए हवाई जहाज से वाराणसी जाने की योजना बनाई थी। राजभर बताते हैं कि किराया इतना महंगा होने के कारण उन्होंने शादी में ट्रेन से जाने का निर्णय लिया।
ज्ञात हो कि घाटे में चल रही जेट एयरवेज की उड़ानें इन दिनों बंद पड़ी है जबकि बोइंग ७३७ मैक्स विमान दुर्घटनाग्रस्त होने के बाद इसी सीरीज के स्पाइस जेट के पास १२ विमान और जेट एयरवेज के पास ५ विमान हैं, जिनकी उड़ानों पर प्रतिबंध लगा दिया गया है, वहीं संजय तिवारी ने मुंबई से लखनऊ की योजना बनाई थी लेकिन किराया अधिक होने के कारण संजय ने फिलहाल के लिए लखनऊ जाने का निर्णय ही रद्द कर दिया।