मुंबई-दिल्ली उड़ाना है!, पुलवामा था पहला डोज, आतंकी मसूद अजहर की धमकी

पुलवामा हमले के बाद पूरी दुनिया में पाकिस्तान की घेराबंदी हो चुकी है और वह अलग-थलग पड़ चुका है बावजूद इसके वह सुधरने को तैयार नहीं है। पुलवामा हमले का आका जैश-ए-मोहम्मद का सरगना मौलाना मसूद अजहर ने कहा है कि पुलवामा तो पहला डोज था। अभी तो मुंबई -दिल्ली जैसे शहरों को उड़ाना है। मसूद की इस धमकी ने खुफिया एजेंसियों के कान खड़े कर दिए हैं। हिंदुस्थान ने यूएन में जो डोसियर सौंपा है उसमें सबूत के तौर पर एक १५ मिनट का टेप भी सौंपा है जिसमें मसूर की यह धमकीभरी आवाज है।

इस ऑडियो में मसूद अजहर हिंदुस्थान के खिलाफ जहर उगल रहा है। इस ऑडियो टेप से मसूद अजहर का पुलवामा आतंकी हमले में हाथ होने की बात स्पष्ट साबित हो रही है। अजहर इस टेप में कह रहा है, अगर जल्द ही कश्मीर को हिंदुस्थान से अलग नहीं किया गया तो आतंक की आग देश की राजधानी दिल्ली, आर्थिक राजधानी मुंबई के अलावा लखनऊ तक पैâलेगी। एक तरह से आतंकी मसूद ने मुंबई-दिल्ली को उड़ाने की धमकी दे दी है।

बता दें कि पुलवामा आतंकी हमले में आतंकी संगठन जैश के आका मसूद अजहर का नाम सामने आया था। इस हमले के बाद पाकिस्तान पर चौतरफा दबाव बना है, जिसके चलते पाकिस्तान को मजबूरी में मसूद अजहर और उसके भाई सहित उनके सहयोगियों पर कार्रवाई करने का कदम बढ़ाना पड़ा। हालांकि यह कार्रवाई महज दिखावा होने का अंदाजा मसूद अजहर के जहरीले ऑडियो से लगाया जा सकता है। संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद को सौंपी गई जहरीली ऑडियो में मसूद कश्मीर को लेकर नया नारा अलाप रहा है। अपने ऑडियो में मसूद कश्मीरियों के नारों को गलत ठहरा रहा है। मसूद का मानना है कि कश्मीर पाकिस्तान का हिस्सा नहीं बल्कि पाकिस्तान कश्मीर का हिस्सा है।

कश्मीर को जब तक हिंदुस्थान अपने से अलग नहीं करेगा तब तक आतंक का खेल चलते रहने की मसूद अजहर की धमकी इस ऑडियो में सुनी जा सकती है। मुंबई, दिल्ली, लखनऊ सहित पूरे देश में आतंक की आग फैलाने की धमकी मसूद अजहर दे रहा है। हिंदुस्थान द्वारा सौंपे गए इस ऑडियो रिकॉर्डिंग को संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद ने गंभीरता से लिया है। संभावना जताई जा रही है कि मसूद की संपत्ति जप्त करने के साथ-साथ परिषद उसे नजरबंद करने का पैâसला ले सकता है। हालांकि उसे ग्लोबल आतंकी घोषित करने का जो प्रस्ताव फ्रांस ने दिया है, उस पर चीन ने अड़ंगा लगा दिया है। मगर अमेरिका ने साफ कहा है कि अगर चीन ऐसी हरकत करता रहा तो फिर अमेरिका दूसरा एक्शन ले सकता है।