मुंबई-नासिक लोकल का `दि एंड’

मुंबई-नासिक के बीच लोकल ट्रेन सेवा शुरू करने की मध्य रेलवे ने जो योजना बनाई थी, उसका `दि एंड’ हो गया है। इसी के साथ ही घाट सेक्शन पर लोकल ट्रेन चलाने का रेलवे का यह सपना भी एक सपना बनकर रह गया है। घाट सेक्शन पर लोकल के चढ़ने पर हो रही परेशानी के साथ ही अन्य तकनीकी समस्याओं के कारण रेलवे ने इस योजना पर पूर्णविराम लगा दिया है।
रेलवे के एक वरिष्ठ अधिकारी के अनुसार पहले तो लोकल ट्रेन के घाट सेक्शन पर चढ़ने में परेशानी हो रही है। इसके अलावा लोकल ट्रेन जिस टनल से होकर गुजरेगी वह टनल भी ज्यादा चौड़ी नहीं है जबकि लोकल ट्रेन के कोच मेल एक्सप्रेस ट्रेन के मुकाबले ज्यादा चौड़े होते हैं। अधिकारी ने बताया कि घाट सेक्शन होने के कारण यदि टनल में डीरेलमेंट होता है तो बचावकार्य में काफी परेशानी हो सकती है। इतना ही नहीं इस रूट पर मोड़ भी कुछ जगहों पर हैं। इसके अलावा ओवर हेड वायर के खंभे भी काफी नजदीक हैं, जो कि लोकल ट्रेन चलाने के नियमों पर खरे नहीं उतरते हैं। अधिकारी का कहना है कि इन सभी बातों को ध्यान में रखते हुए घाट सेक्शन पर लोकल ट्रेन नहीं चल सकती, इसके संबध में रेलवे बोर्ड को एक पत्र लिखकर भेजा गया है।
बता दें कि बड़े पैमाने पर रोजाना रेल यात्री मुंबई से नासिक का सफर तय करते हैं। ऐसे में काफी समय से इस रूट पर लोकल ट्रेन चलाने की मांग चल रही थी। यात्रियों की इस मांग को मानते हुए रेलवे ने मुंबई से नासिक लोकल रेल सेवा शुरू करनी की घोषणा की थी। इसके बाद प्रयागराज स्थित रिसर्च डिजाइंस एंड स्टैंडर्ड ऑर्गनाइजेशन (आरडीएसओ) के अधिकारियों ने इस रूट का निरीक्षण भी किया था, जिसके बाद मुंबई-नासिक लोकल ट्रेन चलाने का मामला कसारा घाट पर आकर अटक गया था।