मुंबई पर मंडराने लगा है लुक्खा आतंक!

बालाकोट में भारतीय वायु सेना की एयर स्ट्राइक के बाद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्ववाली एनडीए सरकार को लोकसभा चुनाव में मिली अपार सफलता से पाकिस्तान परस्त आतंकियों के हौसले पूरी तरह पस्त हो चुके हैं। लेकिन लोकसभा चुनाव में एनडीए की भारी जीत के बाद कुछ लुक्खे काफी परेशान हो गए हैं। इन लुक्खों के कारण मुंबई पर लुक्खा आतंकवाद का खतरा मंडराने लगा है। लुक्खा आतंकवाद यानी शहर में दहशत पैâलाने के लिए उल्टी-सीधी हरकत करना। ऐसे ही कुछ लुक्खे, आतंकियों की आड़ में कुछ फेक संदेश लिखकर मुंबईकरों को खौफजदा करने का प्रयास कर रहे हैं। एनडीए की प्रमुख पार्टी भाजपा भी इन लुक्खों के निशाने पर है। नई मुंबई के उरण इलाके में पुल के पिलर पर आइसिस आतंकियों की तारीफ में लिखे संदेश एवं लोकमान्य तिलक टर्मिनस (एलटीटी) पर शालीमार एक्सप्रेस ट्रेन में मिले विस्फोटक एवं लेटर बम इसका उदाहरण हैं।
उरण स्थित खोफ्टे पुल के पिलरों पर आइसिस आतंकियों एवं उनके आका बगदादी के साथ-साथ २६/११ मुंबई आतंकी हमलों के मास्टर माइंड हाफिज सईद की तारीफवाले संदेश २ दिन पहले लिखे गए थे। काले मार्कर पेन से लिखे इन संदेशों में बगदादी की काफी तारीफ की गई थी। इसे किसी स्थानीय लुक्खे की हरकत मानते हुए पुलिस एवं जांच एजेंसियां अभी जांच का प्रयास कर ही रही थीं, इसी दौरान कल एलटीटी पर शालीमार एक्सप्रेस ट्रेन में जिलेटिन की छड़ें मिलने की खबर से जांच एजेंसियों के हांथ-पांव फूल गए। विस्फोटकों के साथ भाजपा के लिए चेतावनी भरा एक पत्र भी मिला है। हालांकि रेलवे पुलिस आरपीएफ, बम निरोधक दस्ते एवं अन्य जांच एजेंसियों द्वारा तथाकथित विस्फोटकों की जांच के बाद जिलेटिन नहीं होने तथा पटाखे होने की जानकारी सामने आई है। उक्त पटाखों के साथ पत्र लिखकर किसी लुक्खे ने शरारत की, ऐसा जांच अधिकारियों का मानना है।
उरण इलाके में ब्रिज के पिलर पर आइसिस आतंकियों की तारीफ वाले संदेश के बाद कल शालीमार एक्सप्रेस ट्रेन में ‘नल्ला बम’ रखकर किसी लुक्खे ने मुंबईकरों के बीच दहशत पैâलाने का प्रयास किया है। लुक्खे ने उक्त नल्ले बम के साथ एक लेटर भी रखा था, जिसमें अपने गुर्गों को कुछ निर्देश के साथ लोकसभा चुनाव में सबसे ज्यादा सीटें और वोट पाने वाली भाजपा को भी धमकी दी गई है। शालीमार में शैतानी करनेवाले इस लुक्खे को पुलिस एवं अन्य जांच एजेंसियां अब ढूंढ रही हैं।
बता दें कि पश्चिम बंगाल के हावड़ा से कुर्ला स्थित लोकमान्य तिलक टर्मिनस (एलटीटी) आनेवाली शालीमार एक्सप्रेस कल करीब २ घंटा देरी से एलटीटी पहुंची थी। यार्ड में सफाई के दौरान सफाईकर्मी को बम जैसी संदिग्ध वस्तु मिली थी। विस्फोटक के साथ एक पत्र भी मिला। भाजपा को सबक सिखाने से संबंधित संदेश के साथ लाल स्याही से कागज पर एक रफ नक्शा भी बना था, साथ ही लिखा था कि इस पैकेट को यहां रखो, अगली टीम यहां से आगे बढ़ेगी। पैकेट से एक बैटरी भी जुड़ी थी। सूचना मिलते ही रेलवे पुलिस, आरपीएफ, बम निरोधक दस्ते सहित अन्य जांच एजेंसियां मौके पर पहुंच गर्इं और संदिग्ध विस्फोटकों की जांच के बाद उन्हें पटाखा करार दिया। हालांकि अभी तक यह स्पष्ट नहीं हुआ है कि इसे किसने और किस मकसद से रखा था लेकिन फिलहाल पूरे मामले की जांच वरिष्ठ अधिकारियों की निगरानी में की जा रही है। गौरतलब हो कि कुछ ही दिन पहले खुफिया एजेंसियों ने ईद के आसपास मुंबई में आतंकी हमले की आशंका जताई थी, जिसके कारण मुंबई में रेलवे स्‍टेशनों, स्‍कूलों और स्‍कूली बसों के लिए अलर्ट जारी किया गया था। उसी दौरान राज्‍य परिवहन की बस में आईईडी बम भी बरामद हुए थे। इस वजह से कल लुक्खों के नल्ले बम और पत्र ने पुलिस एवं पब्लिक को काफी परेशान किया। एक अधिकारी ने बताया कि वैसे तो विस्फोटक ज्यादा घातक नहीं थे लेकिन इनसे ट्रेन या स्टेशन परिसर में अफरातफरी मच सकती थी।

देश में एनडीए सरकार बनने से लुक्खे परेशान
हताशा में सनसनी पैâलाने के लिए कर रहे शैतानी
पुल के पिलर पर आइसिस की लिखी तारीफ
ट्रेन में पटाखा रखकर बम होने का फैलाया भ्रम