" /> मुंबई , पुणे में नियमों का करो कड़ाई से पालन- शरद पवार

मुंबई , पुणे में नियमों का करो कड़ाई से पालन- शरद पवार

पालघर की घटना पर मत करो राजनीति
केंद्र सरकार की सूचना का पालन किया तो कोरोना को हम मात दे सकते हैं। तीन सप्ताह के बाद अधिक सुधार के लिए तीन मई तक की अवधि बढ़ाई गई हैं। इस दौरान सावधानी बरती गई तो परिस्थितियों में बदलाव अवश्य होगा औऱ नियमों में शिथिलता का निर्णय अवश्य लिया जाएगा। इसमें किसी भी प्रकार की शंका नही है। ऐसा विचार राकांपा अध्यक्ष शरद पवार ने व्यक्त किया। फेसबुक के माध्यम से शरद पवार ने जनता से बातचीत करते हुए उक्त बातें कहीं।
लॉक डाउन के दौरान घर से बाहर मत निकलो। इस बात का ध्यान रखो। मतलब , मुंबई और पुणे में नियमों का कड़ाई से अमल करना आवश्यक है। ऐसा पवार ने स्पष्ट किया। अमेरिका जैसे देश मे अब तक 40हजार, स्पेन में 20 हजार, फ्रांस में 20 हजार लोगों की मौत हो चुकी है। देश मे देखा जाए तो महाराष्ट्र में मरने वालों की संख्या चिंता जनक है। हम पश्चिमी देशों की तुलना नहीं कर सकते है।।महाराष्ट्र में बढ़ रहे आंकड़ा को रोकने के लिए उपाय योजना करना होगा। ऐसा पवार ने कहा। महाराष्ट्र का विचार किया करना चाहिए, इसके साथ ही मुंबई पुणे, कल्याण, डोंबिवली, ठाणे इन स्थानों पर नियमों का कड़ाई से अमल होना चाहिए। आंकड़ों को शून्य पर लाना अपने लिए आह्वान है लेकिन असंभव नहीं है। इसके लिए ‘सोशल डिस्टन्सिंग की सूचना का पालन होना ही चाहिए। दो लोगों के बीच आवश्यक अंतर से कोरोना के संसर्ग को रोका जा सकता है, लोगों की सावधानी से ही कोरोना में शिथिलता संभव है। ऐसा पवार ने कहा। पालघर की घटना पर शरद पवार ने कहा कि यह दुर्भाग्यपूर्ण घटना थी लेकिन इस घटना पर किसी को राजनीति नहrx करनी चाहिए। कोरोना की लड़ाई सभी को मिल कर लड़ना चाहिए। ऐसा पवार ने कहा।