मुंबई फर्स्ट!, मोदी ने दिलाया भरोसा

मुंबई ने हमेशा देश सहित हम सबको भरपूर समर्थन दिया है। यहां का मध्यम वर्ग, मछुआरे, डिब्बावाले, काली-पीली टैक्सीवाले, सफाई में जुटे लाखों लोगों का आभार प्रकट करने आया हूं। मुंबई का इंप्रâा तेजी से बढ़ रहा है। मेट्रो का काम तेजी से चल रहा है और देश की पहली बुलेट ट्रेन का नाम भी मुंबई से ही जुड़ेगा। लोकल ट्रेन की सेवाओं का भी तेजी से विस्तार हो रहा है। पिछली सरकार ने १० साल में ११ किलोमीटर की मेट्रो बनाई थी। हम जिस रफ्तार से काम कर रहे हैं, कुछ ही वर्षों में पौने तीन सौ किलोमीटर मेट्रो मुंबई में दौड़ेगी। इस तरह इंप्रâा के मामले में मुंबई फर्स्ट हो जाएगा। इन शब्दों में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कल बीकेसी में आयोजित महायुति की विशाल सभा में मुंबईकरों को आश्वस्त किया।
लोकसभा चुनाव के प्रचारार्थ आयोजित महायुति की इस विशाल सभा में इससे पहले अपने भाषण की शुरुआत करते हुए पीएम मोदी ने शिवसेनाप्रमुख का उल्लेख करते हुए कहा कि छत्रपति शिवराय, ज्योतिबा फुले, बाबासाहेब आंबेडकर और बालासाहेब ठाकरे की यह महान भूमि मेरे जैसे करोड़ों लोगों को प्रेरित करती है। मैं शीश झुकाकर मुंबईकरों को नमन करता हूं। आज ही मैं काशी में नामांकन भर आया हूं। संयोग है कि देश की सांस्कृतिक नगरी से मैंने पर्चा भरा और समृद्धि की नगरी में मैं आपका आशीर्वाद लेने आया हूं। मैं उद्धव जी का आभार प्रकट करता हूं कि यहां २९ को चुनाव है और उनकी व्यस्तता काफी ज्यादा है, बावजूद इसके वे काशी आए।
मुंबईकरों को संबोधित करते हुए पीएम मोदी ने कहा कि अब आपकी मिस्ट्री नहीं, सपनों और आकांक्षाओं की केमिस्ट्री काम कर रही है। मुंबई के मध्यम वर्ग का विशेष आभार क्योंकि आपके ही सहयोग से ये चौकीदार देश के गरीबों के कल्याण के लिए कई योजनाएं चला रहा है। मैंने लालकिले से कहा था कि गैस की सब्सिडी छोड़िए और करोड़ों लोगों ने सब्सिडी छोड़ दी। इससे गरीब परिवारों को गैस कनेक्शन मिला, धुएं से मुक्ति मिली। मैंने देश के सामने स्वच्छता का मुद्दा रखा था और आज मुंबई के कई लोग स्वत: समुद्र का किनारा साफ करने में गर्व महसूस करते हैं। आज देश में सबसे ज्यादा रक्तदान, नेत्र दान, मेडिकल पढ़ाई के लिए देहदान मध्यम वर्ग करता है। इस मध्यम वर्ग को नमन। इसके साथ ही पीएम मोदी ने आतंकवाद पर भी मुंबईकरों को आश्वस्त करते हुए कहा कि मुंबई में बार-बार आतंकी हमले होते थे। ज्यादातर हमले कांग्रेस के शासनकाल में ही हुए। पर तब के गृहमंत्री, मुख्यमंत्री और मंत्री कपड़े बदलकर चैन की नींद सो जाते थे। मुंबई में बम धमाके हुए। २६/११ के बाद भी मुंबईकर रुके नहीं। पर सबके मन में एक सवाल था कि उन्हें सजा कब मिलेगी? आपकी इच्छानुसार इस चौकीदार ने आपको उस बेबसी से बाहर निकाला है। मैं छत्रपति का मावला हूं। अब हम आतंकियों को घर में घुसकर मारेंगे। यह करके दिखाया है। पहले की सरकार क्या कहती थी? अभी चुनाव है, आईपीएल नहीं करा सकते। अभी ये त्योहार चल रहा है। सुरक्षा नहीं दे सकते। आज स्थिति बदल गई है। सारे उत्सव, त्योहार मनाए जा रहे हैं। चुनाव भी हो रहे हैं। एक मई महाराष्ट्र और गुजरात का स्थापना दिवस भी है। आईपीएल भी चल रहा है। विश्वास है कि आतंकियों ने कोई हरकत की तो उसे पाताल में भी घुसकर मारेंगे। आज विभिन्न दलों में जो पीएम उम्मीदवार हैं, उन पर कटाक्ष करते हुए मोदी ने कहा कि एक पार्टी ८ सीट पर लड़ रही है। एक पार्टी २० सीट पर लड़ रही है। सब पीएम उम्मीदवार हैं। आप बताइए ये जितने भी पीएम उम्मीदवार दिखते हैं, इनमें से कौन आतंकवाद को खत्म कर सकता है? इस पर लोगों ने कहा, कोई नहीं। तब मोदी ने कहा, फिर इंतजार किस बात का? इसके लिए महायुति को वोट देना पड़ेगा। आप चाहते हैं देश मजबूत हो, देश की मजबूती के लिए सरकार मजबूत हो, सरकार की मजबूती के लिए चौकीदार मजबूत हो और चौकीदार को मजबूत करने के लिए महायुति को वोट देना पड़ेगा।
मुंबई के मध्यमवर्ग टैक्स पेयर्स की पीएम मोदी ने कल खूब सराहना की। उन्होंने कहा कि संसद में वित्त मंत्री पीयूष गोयल ने पहली बार टैक्स पेयर को थैंक्यू कहा। ये आप टैक्स पेयर्स की देन है कि आज विश्व की सबसे बड़ी हेल्थकेयर स्कीम ‘आयुष्मान भारत’ सफलतापूर्वक चल रही है। अमेरिका, कनाडा और मैक्सिको की संयुक्त जनसंख्या से भी ज्यादा लोगों को भारत में आयुष्मान का लाभ दिया जा रहा है। सरकार ने २०२२ तक सभी बेघरों को घर देने का लक्ष्य रखा है। यह सब आप मध्यमवर्ग और टैक्स पेयर्स की ही देन है। दशकों से ये मध्यमवर्ग टैक्स देता आ रहा है पर देश की सबसे पुरानी पार्टी कांग्रेस कह रही है कि मध्यमवर्ग लालची होता है, स्वार्थी होता है। कांग्रेस का ढकोसला पत्र देख लीजिए, मध्यमवर्ग के बारे में एक भी बात नहीं कही है। कांग्रेस एक परिवार का वजूद बढ़ाने के लिए मध्यमवर्ग पर बोझ डालना चाहती है। कांग्रेस की सरकार आते ही टैक्स हाई हो जाता है और महंगाई बढ़ती है। बीते ५ वर्ष में आपने महसूस किया होगा कि करप्शन की खबरें अखबार से गायब हो गईं, जिसके कारण कुछ लोग जेल में और कुछ बेल पर घूम रहे हैं। कुछ जेल के करीब पहुंच चुके हैं। २०१९ में बैठा दीजिए उन्हें अंदर कर दूंगा। हमने टैक्स नहीं बढ़ाया, टैक्स देनेवालों की संख्या बढ़ाई। पूर्व पीएम मनमोहन सिंह पर तंज कसते हए मोदी ने कहा कि अर्थशास्त्री पीएम थे। देश मांग रहा था पर सुनते नहीं थे। पहली बार ५ लाख रुपए को टैक्स के दायरे से बाहर कर दिया गया। महंगाई भी कम है। २०१४ में ये मुद्दा था, आज हमारे विरोधी भी इसका नाम नहीं लेते। पहले यह १० प्रतिशत था आज ४ प्रतिशत पर रोक दिया। विकास दर ऊंची है। मेडिकल का बिल कम हुआ है। दवाएं सस्ती हुई हैं। टेलीफोन कॉल करीब फ्री हो गया है। डेटा भी सबसे सस्ता। डिजिटल इंडिया के कारण आपका पैसा बचा। जब इसका हिसाब लगाएंगे तो सरकार का प्रयास समझ में आएगा।
मोदी ने कहा कि आज के युवा की सोच अलग है पर विपक्षी पार्टियां इन युवा की सोच को नहीं समझ सकते। सभी सर्वे चुनाव नतीजों को लेकर एकमत हैं कि भाजपा और एनडीए को सबसे ज्यादा सीटें आएंगी, वहीं देश की सबसे पुरानी पार्टी में क्या चर्चा है? उनकी चर्चा है कि इस चुनाव में कांग्रेस ४४ का आंकड़ा पार कर ५० तक पहुंचेगी या ४० पर ही सिमट जाएगी। मुंबई के लोग काफी समझदार हैं। वे समझ जाते हैं। वे उस पार्टी को वोट क्यों देंगे जो हारेगी। सो समझदारी अपना वोट बर्बाद करने में है या सही जगह लगाने में है।