" /> मुंबई मनपा करेगी नौकरी के लिए मुंबई जानेवाले अंबरनाथकरों के आवास की व्यवस्था

मुंबई मनपा करेगी नौकरी के लिए मुंबई जानेवाले अंबरनाथकरों के आवास की व्यवस्था

शिवसेना विधायक डाॅ बालाजी किणीकर के पत्र व्यवहार से मिली सफलता

अंबरनाथ शहर में कोरोना संक्रमण के बढ़ते मामलों को रोकने के लिए एहतियात के तौर पर शहर की सीमाओं को बंद किया जाना चाहिए। अंबरनाथ से मुंबई या अन्य शहरों में जानेवाले सरकारी कर्मचारियों के लिए वहीं रहने की व्यवस्था की जानी चाहिए। शिवसेना विधायक डॉ. बालाजी किनीकर की इस मांग पर प्रशासन ने तत्परता दिखाई है और काम के लिए अंबरनाथ से मुंबई जानेवाले कर्मचारियों के आवास की व्यवस्था मुंबई मनपा के माध्यम से की जाएगी। इसके लिए, मुंबई जानेवाले सरकारी और निजी सेवा के कर्मचारियों को अंबरनाथ नगर परिषद के माध्यम से मंगलवार को जारी प्रेस विज्ञप्ति में प्रकाशित आवेदन पत्र में विवरण भरना होगा। यह जानकारी शिवसेना विधायक डाॅ. बालाजी किणीकर ने दी। डॉ. किनीकर ने जिलाधिकारी राजेश नार्वेकर को 25 अप्रैल को लिखित अनुरोध किया था, जिसमें उक्त मांगें की थीं। वे अपनी मांग मनवाने में सफल रहे।
अंबरनाथ शहर में दिन-प्रतिदिन कोरोना की घटनाओं में वृद्धि हो रही है और अभी तक नागरिकों के बीच असुरक्षा का माहौल बना हुआ है। शिवसेना विधायक ने कहा कि कोरोनोवायरस के प्रसार को रोकने के लिए तत्काल उपाय किए जाने चाहिए, जिसके लिए शहर की सीमाएं बंद होनी चाहिए और आवश्यक सेवाएं प्रदान करने वालों के अलावा किसी को भी शहर के भीतर या बाहर जाने की अनुमति नहीं दी जानी चाहिए। अंबरनाथ में अत्यावश्यक सेवा के लिए, उन पुलिस अधिकारियों और कर्मचारियों की एक सूची तैयार करनी चाहिए, जो वर्तमान में मुंबई व ठाणे से प्रतिदिन आ जा रहे हैं। लॉकडाउन की अवधि के अंत तक उनके लिए अपने रोजगार के स्थान पर रहने की व्यवस्था की जानी चाहिए। मुंबई मनपा ने इस मांग को मान्य कर ली है कि मुंबई में काम करनेवाले कर्मचारियों के रहने की व्यवस्था करेगी। ऐसा डॉ. किनीकर ने बताया।