मुंबई में बनेगा वर्ल्ड क्लास चिड़ियाघर, मूर्त रूप लेगा शिवसेनापक्षप्रमुख का सपना

भायखला में स्थित मुंबई का एकमात्र चिड़ियाघर वीरमाता जीजाबाई भोसले उद्यान शुरुआत से ही पर्यटकों के आकर्षण का केंद्र रहा है। अब इस चिड़ियाघर को अंतर्राष्ट्रीय स्तर का बनाने के लिए मनपा द्वारा इसका विस्तार किया जा रहा है। चिड़ियाघर के इस विस्तार से शिवसेनापक्षप्रमुख उद्धव ठाकरे का सपना मूर्त रूप लेगा। इस चिड़ियाघर का विस्तार गोरेगांव की आरे मिल्क कॉलोनी की १२० एकड़ भूमि पर किया जाएगा। अंतर्राष्ट्रीय स्तर के बननेवाले इस चिड़ियाघर में लोगों के मनोरंजन और बच्चों के सीखने के लिए काफी कुछ रहेगा। भायखला चिड़ियाघर के विस्तार के लिए आवश्यक आरे मिल्क कॉलोनी की भूमि को मनपा को सौंप देने के लिए कल महाराष्ट्र सरकार और मनपा के बीच अनुबंध साइन हुआ।
विस्तारित चिड़ियाघर की विशेषताएं
आरे मिल्क कॉलोनी में बनने जा रहे इस चिड़ियाघर का संपूर्ण खर्चा मनपा वहन करेगी। मात्र जमीन वन विभाग द्वारा दी जाएगी।
इस चिड़ियाघर को केंद्र सरकार द्वारा बनाए गए प्राधिकरणों के आधार पर बनाया जाएगा।
चिड़ियाघर से प्राप्त राजस्व का मनपा और राज्य सरकार निर्धारित अनुपात में बंटवारा करेगी।
वन विभाग द्वारा मनपा को तकनीकी सुविधाएं व प्राणियों के रख-रखाव के लिए आवश्यक चीजें उपलब्ध करवाई जाएंगी।
मनपा द्वारा खर्च किए जाएंगे ५०० करोड़ रुपए।
कंजर्वेशन ब्रीडिंग सेंटर में दिखेगी रस्ती स्पॉटेड कैट
बिल्ली की सबसे छोटी प्रजातियों में से एक रस्ती स्पॉटेड वैâट को आरे मिल्क कॉलोनी में बननेवाले कंजर्वेशन ब्रीडिंग सेंटर में लाया जाएगा। इस ब्रीडिंग सेंटर में विलुप्त हो रही प्रजातियों के संरक्षण की व्यवस्थाएं की जाएंगी। फिर उनकी ब्रीडिंग करवाकर उनके बच्चों को खुले में छोड़ दिया जाएगा। मनपा इन प्रजातियों के संरक्षण के लिए उनकी आवश्यकता के अनुरूप माहौल बनाएगी।
मुंबईकर उठाएंगे नाइट सफारी का आनंद
सिंगापुर में पर्यटकों के लिए नाइट सफारी की उत्तम व्यवस्था की गई है। वहां ट्राम से रात में लोगों को विभिन्न पशु-पक्षियों को दिखाया जाता है। इसी तर्ज पर मुंबई में भी नाइट सफारी की उत्तम व्यवस्थाएं की जाएंगी और मुंबईकर रात में जंगल के जानवरों को देख सकेंगे।
उदयपुर के बायोलॉजिकल पार्क के जैसा होगा आरे कॉलोनी का चिड़ियाघर
राजस्थान के उदयपुर में सज्जनगढ़ बायोलॉजिकल पार्क और चिड़ियाघर बनाया गया है। जहां पर मात्र दो महीने में ४६,००० पर्यटकों के आने का रिकॉर्ड है। राजस्थान के इस चिड़ियाघर में देश-विदेश से विभिन्न प्रजातियों के पशु-पक्षी लाए गए हैं। पर्यावरण प्रेमियों की मांग है कि मुंबई के आरे कॉलोनी में बननेवाले इस चिड़ियाघर का निर्माण भी उसी तरह किया जाना चाहिए, इससे वहां पर अतिक्रमण रुक जाएगा।
पश्चिमी उपनगरीय क्षेत्र को मिलेगा नया टूरिज्म स्पॉट
मुंबई में पर्यटन के लिए अधिकांशत: क्षेत्र दक्षिण मुंबई में स्थित है। गोरेगांव की आरे कॉलोनी में इस चिड़ियाघर के बनने के बाद लोगों को उपनगरीय क्षेत्र में भी पर्यटन की सुविधा उठाने का लाभ प्राप्त होगा।
बच्चों के लिए बनेगा नेचुरल एज्युकेशन सेंटर
आरे कॉलोनी के इस चिड़ियाघर में बच्चों को सीखने और जानने के लिए बहुत कुछ मिलेगा। मनपा द्वारा इस चिड़ियाघर में नेचुरल एज्युकेशन सेंटर बनाया जाएगा। जहां बच्चे चिड़ियाघर को लेकर मन में उठ रहे सवालों का जवाब जान पाएंगे। मनोरंजन के साथ इस चिड़ियाघर में विभिन्न पौधों और जानवरों की वैज्ञानिक तथ्यों से जानकारी दी जाएगी।