मुंबई में भी होती है आतंकी ‘इबादत’

देश की राजधानी दिल्ली और हरियाणा की कुछ मस्जिदों में आतंकी फंडिंग होने का खुलासा एनआईए की जांच में हो चुका है। इसी तर्ज पर अब मुंबई और ठाणे की अधिकांश मस्जिदें व मदरसे भी प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) की रडार पर आ गए हैं। यहां की कई मस्जिदें ऐसी हैं, जहां पर आतंकी इबादत होने की बात कही जा रही है। मस्जिद में आमतौर पर इबादत (उपासना)होती है लेकिन आतंकी आर्थिक सहायता लेनेवाली मस्जिदों में आतंक की इबादत होने की संभावनाएं देश की सुरक्षा एजेंसी द्वारा जताई जा रही हैं। आतंक की ‘इबादत’ करनेवाली इन मस्जिदों को आतंकी संगठन लश्कर-ए-तैयबा से फंडिंग होने की चर्चा ईडी में हो रही है।
आतंकी फंडिंग से बनी ये मस्जिदें मालवणी, मुंब्रा, मीरा रोड, भिंडी बाजार, मोहम्मद अली रोड, गोवंडी, बांद्रा आदि मुस्लिम बाहुल्य इलाकों में स्थित हैं। इन मस्जिदों को हवाला या जकात के नाम पर उनके खाते में फंडिंग जमा होने की जानकारी ईडी के पास है। ईडी की जांच में फंडिंग को लेकर अगर किसी भी तरह के दस्तावेज मिलते हैं तो इन मस्जिदों और मदरसों की संपत्ति भी जप्त की जा सकती है।
बता दें कि बीते दिनों एनआईए ने दिल्ली से कुछ संदिग्ध लोगों को गिरफ्तार किया था, इसमें हरियाणा के पलवल जिले में स्थित मस्जिद का इमाम मोहम्मद सलमान भी शामिल था। एनआईए के शिकंजे में आए इमाम मोहम्मद सलमान ने पूछताछ में आर्थिक फंडिंग के संबंध में कई महत्वपूर्ण राज उगला था, जिसमें मस्जिद व मदरसों के निर्माण में आतंकी हाफीज सईद से फंडिंग मिलने की बात का भी समावेश है। इसके बाद एनआईए ने कई मस्जिदों व मदरसों की खाक छाननी शुरू कर दी। इस दौरान एनआईए को फंडिंग संबंधित दस्तावेज भी मिले थे। जिसमें यह बात सामने आई थी कि फला-ए-इंसानियत नामक फर्जी संगठन के माध्यम से विदेशों से देशभर की कई मस्जिदों को फंड आ रहे हैं। इसी जांच की डोर अब आर्थिक राजधानी मुंबई व उससे सटे ठाणे जिले की अधिकांश मस्जिदों व मदरसों से जुड़ने लगी है। बताया जाता है कि इस मामले एनआईए की मदद के लिए प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) भी उनके साथ जुड़ गया है। ईडी सूत्रों की मानें तो कुछ मस्जिदों और मदरसों की तामीर (निर्माण कार्य) के अलावा बच्चों को कट्टरवाद की तालीम (शिक्षा) देने के लिए ये फंडिंग होने की जानकारी मिल रही है। कहा यह भी जा रहा है कि आतंकी संगठन कुछ मस्जिदों व मदरसों को हवाला या फिर अन्य मुस्लिम देशों से उनके खाते में जकात के नाम पर ये फंड भेज रहे हैं। सूत्रों के अनुसार ओमान, कतर, बहरीन, सऊदी, दुबई, अफगानिस्तान, जॉर्डन, इजिप्त, मलेशिया और लंदन से यह फंडिंग हो रही है। इस बारे में ईडी के अधिकारी भी इस सच्चाई को एक सिरे से खारिज करते नजर नहीं आ रहे हैं।

आतंकी इबादतगाह
जिन मस्जिदों में आतंकी इबादत होने की संभावना जताई जा रही है वे मस्जिदें मालवणी, मुंब्रा, मीरा रोड, भिंडी बाजार, मोहम्मद अली रोड, गोवंडी, बांद्रा आदि क्षेत्रों में स्थित हैं।
विदेशी फंडिंग
देश की कई मस्जिदों में विदेश से आतंकी फंडिंग होने की संभावना है। ओमान, कतर, बहरीन, सऊदी, दुबई, अफगानिस्तान, जॉर्डन, इजिप्त, मलेशिया और लंदन से यह फंडिंग हो रही है।