" /> मुंबई व पुणे में लॉक डाउन उल्लंघन के सबसे अधिक मामले

मुंबई व पुणे में लॉक डाउन उल्लंघन के सबसे अधिक मामले

लॉकडाऊन के दौरान २२ मार्च से ४ मई के दरम्यान राज्य में धारा 188 का उल्लघंन के सबसे अधिक मामले पुणे व मुंबई में दर्ज किए गए है। राज्य में उक्त दरम्यान कुल ९३,७३१ मामले दर्ज किए गए है, जिसमें पुणे शहर-१५०८६, मुंबई -१०५५४,नगर-९०४६, पिंपरी-चिंचवड-७५१९ ओर पुणे ग्रामीण-५६९३ मामले दर्ज किए गए है।सबसे कम मामले वर्धा- १५७, नंदुरबार-११०, गडचिरोली-९०, रत्नागिरी-७५, औऱ अकोला-७२ मामले दर्ज किए गए है। अब तक १८,४६६ लोगों को गिरफ्तार किया गया है। इस दौरान विभिन्न अपराधों के मामले दोषी लोगों से 3 करोड़ 39 लाख रुपए का दण्ड वसूल किए गए है। ऐसी जानकारी पुलिस विभाग की ओर से जारी प्रेस विज्ञप्ति में दी गई है।

उपरोक्त कालावधि के दरम्यान राज्यभर में पुलिस विभाग के १०० नंबर पर ८४,०२२ फोन आए थे , जिस पर पुलिस विभाग की ओर से योग्य कार्यवाही की गई है। उक्त दौरान गैरकानूनी यातायात करनेवाले 1270 वाहनों पर मामले दर्ज किए गए ओर 52,555 वाहनों को जप्त किए गए है। लॉक डाउन के दौरान पुलिस पर कुल 182 हमले के मामले दर्ज किए गए हैं। पुलिस हमले शामिल 661 लोगों को पुलिस ने गिरफ्तार किया है। कोरोना की लड़ाई का मुकाबला करते हुए 40 पुलिस अधिकारियों व 378 पुलिस कर्मचारियों में कोरोना पॉजिटिव पाया गया है। जिनका उपचार चल रहा है। अब तक कोरोना के कारण चार पुलिस कर्मचारियों की दुर्भाग्य से मौत हो गई है। ऐसी जानकारी प्रेस विज्ञप्ति में दी गई है।