" /> मुंब्रा प्रभाग का टैक्स वसूली में बढ़ा ग्राफ, ५५ हजार टैक्स धारक, २४ हजार को नोटिस

मुंब्रा प्रभाग का टैक्स वसूली में बढ़ा ग्राफ, ५५ हजार टैक्स धारक, २४ हजार को नोटिस

पानी तथा प्रॉपर्टी टैक्स भरने में अन्य प्रभाग समितियों की अपेक्षा हमेशा पीछे रहनेवाले मुंब्रा प्रभाग के प्रॉपर्टीधारकों ने टैक्स अदायगी के मामले में एक नया रिकॉर्ड स्थापित किया है। दूसरी तरफ मनपा अधिकारियों ने पानी तथा प्रॉपर्टी टैक्स न भरनेवालों के विरुद्ध जप्ती का अभियान चला रखा है। परिणामस्वरूप ३५ से ४० प्रतिशत तक होनेवाली टैक्स की वसूली इस वर्ष बढ़कर ६० प्रतिशत से भी ज्यादा हो गई है।
उल्लेखनीय है कि मुंब्रा प्रभाग समिति अंतर्गत ५५ हजार ४७२ प्रॉपर्टीधारक हैं, जिनको पानी तथा प्रॉपर्टी टैक्स की अदायगी करनी पड़ती है। पिछले वर्ष मार्च, २०१९ तक जहां १६ करोड़ रुपए की वसूली हुई थी, वहीं इस वर्ष एक महीने पूर्व यानी एक मार्च, २०२० तक १८ करोड़ २२ लाख १६ हजार ३२२ रुपए हो चुकी है। इसमें से ६ करोड़ ७ लाख की वसूली जनवरी से लेकर एक मार्च, २०२० यानी दो महीनों के बीच की गई है। यह वसूली कुल बकाए की ६० प्रतिशत से ज्यादा है। ३१ मार्च तक और ५ करोड़ की वसूली होने की उम्मीद व्यक्त की जा रही है। इसी तरह पिछले वर्ष मार्च २०१९ तक पानी टैक्स की वसूली जहां ७ करोड़ ३ लाख रुपए हुई थी, वहीं इस वर्ष एक महीने पूर्व यानी एक मार्च तक यह बढ़कर ८ करोड़ ४३ लाख रुपए तक हो गई है। इसमें से ४ करोड़ ५० लाख रुपए की वसूली पिछले दो महीनों में की गई है। मार्च, २०२० तक और दो करोड़ की वसूली का लक्ष्य निर्धारित किया गया है। सहायक आयुक्त मंगेश अहेर के मार्गदर्शन में वॉर्ड अधिकारी बालू पिचड़ तथा नैनेश भालेराव द्वारा बकायेदारों के विरुद्ध की गई कार्रवाई में अब तक ९०२ नल कनेक्शन काटे गए हैं। ५५ पंप रूम, १२९ घर, १३६ दुकानें अब तक सील की जा चुकी हैं तथा ७० टीवी, ४०६ मोटर पंप जप्त किए गए हैं। अधिकारियों ने इस वर्ष मुंब्रा प्रभाग से ७० प्रतिशत तक की वसूली का लक्ष्य निर्धारित किया है, जो अब तक का यह एक नया रिकॉर्ड है।